सनातनी संस्कृति की आत्मा गंगा से जी-20 देशों की सांस्कृतिक एकता के लिए मांगा आशीर्वाद "

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

वाराणसी 


 :भारत की अध्यक्षता में जी-20 के आयोजनों के क्रम में 23 अगस्त से 27 अगस्त तक विभिन्न देशों के चौथे संस्कृति कार्य समूह और संस्कृति मंत्रियों आयोजन होने जा रहा है । इस बाबत नमामि गंगे ने महर्षि वेद विद्यालय के बटुकों के साथ काशी की वैभवशाली सांस्कृतिक विरासत ही नहीं बल्कि संगीत और कला के इस बड़े केंद्र में जी-20 देशों के माध्यम से हो रही  "सांस्कृतिक एकता की खुशी " को मां गंगा के तट सिंधिया घाट पर साझा किया ।

 नमामि गंगे काशी क्षेत्र के संयोजक राजेश शुक्ला के संयोजन में जी-20 देशों के राष्ट्रीय चिन्ह लेकर वेदपाठी बटुकों के साथ सनातनी संस्कृति की आत्मा मां गंगा की आरती उतारी । काशी के गंगा घाट, गंगा आरती, मंदिर, कला संस्कृति और संगीत संग वैश्विक स्तर के संस्कृति कार्य समूहों से जुड़े विशेषज्ञों और विदेशों के संस्कृति मंत्रालयों की जुगलबंदी के स्वरों को एकाकार करने वाले आयोजन के लिए भारत की जीवनधारा गंगा से आशीर्वाद मांगा ।

 राष्ट्रध्वज तिरंगा लेकर भारत माता की जय जय कार के बीच संयोजक राजेश शुक्ला ने कहा कि जी-20 देशों के सांस्कृतिक प्रतिनिधियों की बैठक में वैश्विक स्तर पर संस्कृतियों के संरक्षण और उनके प्रसार में मिल रही चुनौतियों पर मिल बैठकर किसी निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए आपसी सहमति बनाने का प्रयास किया जाएगा ।

 बताया कि वाराणसी में सांस्कृतिक समूह से जुड़े लोगों को गंगा आरती ही नहीं बल्कि वाराणसी की संगीतिक विरासत और ऐतिहासिक स्थलों से भी अवगत कराया जाएगा ।  आयोजन में प्रमुख रूप से नमामि गंगे काशी क्षेत्र के संयोजक राजेश शुक्ला, महर्षि वेद विद्यालय के आचार्य पं० राकेश मिश्र, महानगर सहसंयोजक सारिका गुप्ता, पंकज अग्रहरि, महर्षि वेद विद्यालय के प्रभारी सुनील श्रीवास्तव, श्रीमंत सांई एवं सैकड़ो की संख्या में बटुक शामिल रहे ।

***************************************

  बेखौफ खबर भारत न्यूज़

             बृजेश कुमार सिंह, की रिपोट 

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)