अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग फिल्म महोत्सव दिव्यांगों के प्रति समाज की भावना में परिवर्तन लाएगी: लक्ष्मण आचार्य*

Bekauf Khabar Bharat
By -
0


वाराणसी :हम  सभी को "एक राष्ट्र, श्रेष्ठ राष्ट्र" की भावना को ध्यान में रखते हुए समावेशी समाज को आगे बढ़ने का कार्य करना चाहिए जिसमें सभी को सम्मान व उनकी क्षमता के अनुसार अवसर प्राप्त हो। हमें सभी के प्रति सम्मान का भाव रखना चाहिए। फिल्में सीधे हमारी भावनाओं को प्रभावित करती हैं, निश्चित ही काशी में प्रथम बार आयोजित इस अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग फिल्म महोत्सव के माध्यम से लोगों के मन में दिव्यांग जनों के प्रति सोच में सकारात्मक परिवर्तन आएगा। प्रधानमंत्री जी ने दिव्यांगजनों के कल्याण हेतु अनेक सामाजिक योजनाओं का शुभारंभ किया है समाज के प्रत्येक व्यक्ति का दायित्व है दिव्यांगजनों को इन सामाजिक कल्याण कार्यक्रमों का लाभ मिल सके। इसी कड़ी में जन विकास समिति, स्पेशल एबल फाउंडेशन और ब्रदरहुड फाउंडेशन ने इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम का आयोजन किया। उक्त संबोधन महामहिम श्री लक्ष्मण आचार्य जी राज्यपाल सिक्किम ने अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग फिल्म महोत्सव के शुभारंभ कार्यक्रम में दिया। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग फिल्म महोत्सव के आयोजकों का उत्तम आयोजन हेतु प्रशंसा किया। मुख्य अतिथि ने महोत्सव में प्रदर्शित प्रथम फिल्म का अवलोकन भी किया।

कार्यक्रम के अध्यक्षता करते हुए राज्य स्तरीय पुरस्कार से सम्मानित प्रो मंगला कपूर ने कहा कि आज से 50 वर्ष पूर्व दिव्यांगजनों के प्रति समाज का नजरिया आज से काफी भिन्न था। अब समाज में लोगों का दिव्यांगों के प्रति दृष्टिकोण काफी सकारात्मक हुआ है। दिव्यांग बंधु डॉ उत्तम ओझा ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि दिव्यांगजनों हेतु कार्य करना ईश्वर की पूजा के समान है समाज के प्रत्येक नागरिक का दायित्व है कि वह अपने क्षमता के अनुसार दिव्यांगजनों के उत्थान में अपना सहयोग प्रदान करें। शुभारंभ कार्यक्रम में मुख्य रूप से जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम मौर्य, दिलीप पटेल अध्यक्ष काशी क्षेत्र भाजपा, अशोक चौरसिया महामंत्री काशी क्षेत्र भाजपा, भाजपा के जिला अध्यक्ष एवं विधान परिषद सदस्य हंसराज विश्वकर्मा, उद्योगपति एवं समाजसेवी केशव जालान, डिप्टी डायरेक्टर दिव्यांग कल्याण श्री राजेश मिश्रा, डॉ अशोक राय, डॉ तुलसी, डॉ अजय तिवारी, डॉ मनोज तिवारी, सुमित सिंह, आशीष गुप्ता, दयाकर व अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहें। सभी अतिथियों ने दीप प्रज्वलन कर महोत्सव का शुभारंभ किया।अतिथियों का परिचय रंजीत सिंह ने दिया, कार्यक्रम का संचालन डॉ उत्तम ओझा ने किया। अतिथियों का स्वागत श्री चंद्रन रेमंडस, निदेशक, जन विकास समिति तथा धन्यवाद ज्ञापन ब्रदरहुड दिल्ली के निदेशक सतीश कपूर ने किया कार्यक्रम के अंत में राष्ट्रगान गाया गया।

पूरे फिल्म महोत्सव के दौरान बी एल डब्ल्यू का सिनेमा हाल खचाखच भरा हुआ था। दिव्यांगजनों में गजब का उत्साह था। दिव्यांगजन सुबह से ही तैयार होकर फिल्म देखने के लिए सिनेमा हॉल पहुंचने लगे थे, सिनेमा हॉल प्रांगण में त्यौहार जैसा वातावरण था। इस अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग फिल्म महोत्सव का समापन मुंबई से आई प्रख्यात गायिका पद्मश्री डॉ सोमा घोष ने किया।


***************************************

 **बेखौफ खबर भारत न्यूज़*

                       *बृजेश कुमार सिंह की रिपोर्ट*

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)