विद्यापीठ मे मनोवैज्ञानिक विभाग में दो दिवसीय नागरिक सुरक्षा कार्यशाला का हुआ आयोजन

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

 



वाराणसी :मनोविज्ञान विभाग में एक दो दिवसीय नागरिक सुरक्षा कार्यशाला का आयोजन MA द्वितीय सेमेस्टर के छात्र-छात्राओं के लिए आयोजित किया गया था l यह कार्यक्रम उनके मेंटर्स डॉक्टर प्रतिभा सिंह एवं डॉक्टर कंचन शुक्ला द्वारा आयोजित किया गया था जिसमें विभाग के सभी कक्षाओं के छात्र-छात्राओं को कार्यशाला में सम्मिलित होकर जीवन में आपदाओं को प्रबंध करने की शैली को सीखने का प्रशिक्षण दिया गया इस कार्यशाला का उद्देश्य विद्यार्थियों को उनके नागरिक सुरक्षा के बारे में जानकारी प्रदान करना था


 जिसमें आज अग्निशमन अग्नि से उत्पन्न आपदा और उसके प्रबंधन को सिखाया गया साथी अग्निशामक यंत्र का उपयोग कैसे करते हैं और यदि गैस सिलेंडर में आग लग जाती है तो उसका उपचार करने एवं उपलब्ध संसाधन द्वारा आपदा का प्रबंध करने का गुण छात्र-छात्राओं ने सीखा कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र में नागरिक सुरक्षा विभाग के इरफान उल हुदा जी जो विषय विषय शब्द के थे उन्हें पुष्पग और स्मृति चिन्ह प्रदान कर उनका स्वागत किया गया कार्यशाला में प्रोफेसर शेफाली वर्मा ठकराल ने अपने उद्बोधन में नागरिक सुरक्षा की आवश्यकता और उत्पत्ति के संबंध में विश्व युद्ध की घटनाक्रम को बताया l कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डॉ मुकेश पंत ने बताया की नागरिक सुरक्षा के अंतर्गत ही छात्र-छात्राओं को छात्र जीवन में ही राष्ट्रीय सेवा योजना, स्काउट गाइड  एवं एनसीसी जैसे कार्यक्रमों के माध्यम से जोड़ा जाता है


जिससे बच्चे नागरिक सुरक्षा हेतु जागरूक हो सके l डॉ दुर्गेश कुमार उपाध्याय ने आपदा प्रबंधन के मनोवैज्ञानिक पहलू और उससे उत्पन्न होने वाले तनाव में मनोविज्ञान की भूमिका पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आपदा में व्यक्ति में जो तनाव उत्पन्न होता है उसे तनाव से बाहर आने के लिए मनोविज्ञान के विद्यार्थी अच्छा प्रयास कर सकते हैं l कार्यक्रम का  संचालन MA  सेकंड सेमेस्टर की छात्रा पूर्णिमा सिंह और दिव्या त्रिपाठी द्वारा एवं स्वागत गीत आनंदित भट्टाचार्य द्वारा प्रस्तुत किया गया l इस अवसर पर डॉक्टर पूर्णिमा श्रीवास्तव, डॉ संतोष कुमार सिंह एवं डॉ पूनम सिंह के अधिक संख्या में छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे l

*************************************** बेख़ौफ़ खबर भारत न्यूज़

             बृजेश कुमार सिंह की रिपोर्ट

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)