मेटाबोलिक सिंड्रोम को नियंत्रित कर हृदय रोग से बचाव संभव:डा. राजीव कुमार गुप्ता

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

वाराणसी :काशी की हृदयस्थली कही जाने वाली गोदौलिया बांसफाटक मार्ग पर स्थित हिन्दू सेवा सदन अस्पताल में CCU के प्रथम वर्षगांठ पर आयोजित प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डा.राजीव कुमार गुप्ता ने कहा कि अनियंत्रित दिनचर्या और गलत खान-पान के कारण दिल का रोग, आघात (स्ट्रोक) और मधुमेह का खतरा बढ़ जाता है।

 उन्होंने कहा कि इसमें मेटाबोलिक सिंड्रोम में उच्च रक्तचाप, खून में ज्यादा शक्कर, कमर के चारों ओर शरीर की अतिरिक्त वसा और कोलेस्टरॉल का असामान्य स्तर शामिल हैं। मेटाबोलिक सिंड्रोम से व्यक्ति में दिल का दौरा और आघात (स्ट्रोक) का जोखिम बढ़ जाता है।कहा कि हिन्दू सेवा सदन में CCU को प्रारम्भ हुए 1 वर्ष हो गये हैं, इस दौरान कई गंभीर रोगियों का उपचार हुआ, वो रोगी जो धनाभाव के कारण प्राइवेट हॉस्पिटल में नहीं जा सकते थे, वो यहाँ ठीक हुए।हिंदू सेवा सदन चिकित्सालय से जुड़े सुप्रसिद्ध हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ राजीव कुमार गुप्ता ने बताया कि अगर हम थोड़ी सी सावधानी रखें तो ह्रदय रोग से बच सकते हैं।

 घी तेल का कम प्रयोग करना, रोज Exercise, Morning Walli, योग इत्यादि करना चाहिए। सिगरेट, शराब, गुटखा, तम्बाकू इत्यादि का सेवन बिलकुल न करना और जहाँ तक हो सके मानसिक तनाव से बचना चाहिए।कहा कि अब कुछ ऐसी विधियां आ गयी हैं जिनसे हम High risk group (अर्थात जिन लोंग को ह्रदय रोग का खतरा है) का पहले पता कर सकते हैं। यदि इन रोगियों को उचित सलाह और चिकित्सा मिले तो ये लम्बे समय तक ह्रदय रोग से बच सकते हैं

वरिष्ठ हृदय रोग के विशेषज्ञ डॉ राजीव कुमार गुप्ता ने बताया कि Metabolic Syndrome ऐसा ही एक Syndrome है जिससे आज काफ़ी लोग पीड़ित हैं उनको आगे चलकर ह्रदय रोग होने की संभावना अधिक होती है, सबसे बात ये है कि इसको बहुत आसानी से control किया जा सकता है। अगर आम जनता इसके बारे मे जान जाए तो कई परिवारों का और पूरे समाज का भला हो सकता है।

 उन्होंने कहा कि हिन्दू सेवा सदन मे अब हर मंगल और शुक्रवार को Metabolic Syndrome Clinic की शुरुआत की जा रही है। ये ह्रदय रोग से बचाव मे एक मील का पत्थर साबित होगा।प्रबंध समिति के उपाध्यक्ष  जयप्रकाश मुंदडा ने कहा कि हिंदू सेवा सदन चिकित्सालय आज से 88 वर्ष पूर्व चार महान विभूतियों ने चिकित्सालय की स्थापना की जो आज भी निस्वार्थ भाव से मरीजों की सेवा कर रहा है। आज 20 विभागों में कुशल डाक्टरों के द्वारा उपचार किया जा रहा है।

 मेडिसिन, सर्जरी, अस्थि रोग, दांत रोग, नाक-कान-गला रोग, महिला एवं प्रसूति, आयुर्वेद एक्स-रे, पैथोलॉजी, अल्ट्रासाउंड विभाग आदि कार्यरत हैं।प्रबंध समिति के जनसंपर्क अधिकारी गौरव राठी ने बताया कि डॉ राजीव गुप्ता के निर्देशन में सीसीयू विभाग कार्य कर रहा है!

 मंगलवार और शुक्रवार को मेट्रोबोलिक सिंड्रोम के रोग से प्रभावित मरीजों को इलाज करते हैं और यहां पर विभिन्न निशुल्क शिविरों के माध्यम से क्षय रोगियों को निशुल्क दवाई एवं निशुल्क आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक दवाइयों का वितरण भी किया जाता है।पत्रकार वार्ता में सर्वश्री अनिल कुमार रस्तोगी, डा0 दिवाकर मिश्रा, शैलेन्द्र मिश्रा (सोनू) जी. वी. रमन, राज कुमार वाही आलोक तिवारी आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे ।

***********************************

 बेख़ौफ़ खबर भारत न्यूज़ 

                           बृजेश कुमार सिंह की रिपोर्ट

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)