श्री कृष्ण की मानें तो देश बने विश्व गुरु

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

वाराणसी :आर्य समाज लल्लापुरा में श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर्व पर प्रधान सी.ए. विष्णु प्रसाद ने सपत्नीक सभी के साथ सामूहिक बृहद यज्ञ करने के पश्चात् सभागार में व्याख्यान कराएं ‌। यज्ञ पाणिनी कन्या महाविद्यालय के छात्राओं के ब्रम्हत्व में हुआ । 


इस कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला आर्य प्रतिनिधि सभा वाराणसी-चन्दौली के अध्यक्ष प्रमोद आर्य 'आर्षेय' ने किया । अमेठी से पधारे डॉक्टर ज्वलंत शास्त्री ने कहा कि अमृत महोत्सव के अंतर्गत महर्षि दयानन्द सरस्वत के २००वीं जयन्ती ज्ञान प्रकाश पर्व पर रचित सत्यार्थ प्रकाश के ग्यारहवें समुल्लास में महाभारत व गीता के आधार पर बताए गए श्री कृष्ण जी के जीवन चरित को अपनाकर ही भारत को पुनः विश्वगुरु बनाया जा सकता है । 



पाणिनि कन्या विद्यालय की पूर्व छात्रा व बीएचयू की शोध छात्रा सुश्री दिव्य किरण आर्या ने कहा कि अभी कुछ दिनों पूर्व मैं काफी अस्वस्थ हो गई व औषधादि से भी उत्तम स्वास्थ्य लाभ न मिलने पर पिताजी के प्रेरणा से यज्ञ व योग यानी श्री कृष्ण जी के जीवन चरित को स्वयं में उतारने पर ही आज मैं स्वस्थ होकर आप सभी के सामने उपस्थित हो पाई हूं । जिला सभा के मंत्री  सत्येंद्र आर्य ने  कहा कि योगीराज कृष्ण को जान व मानकर ही हमसब अपने जीवन को सदाचारी बना सकते हैं ।

 स्वामी राजेन्द्र योगी सरस्वती, मिर्ज़ापुर ने कहा कि मुगल समय में लिखे पुराणों व भागवत को इतना अधिक प्रक्षेपित किया गया है कि उस प्रेक्षण को त्यागकर ही हमसब योगीराज भगवान श्री कृष्ण जी के चरित्र को सही दिशा में जान व मान सकते हैं । इस अवसर पर मातृ मन्दिर कन्या गुरुकुल की आचार्या डॉक्टर गायत्री आर्या के द्वारा तैयार कराए गए नन्हीं ब्रह्मचारिणियों द्वारा गीता के पाठ का गायन व योगेश्वर श्रीकृष्ण जी के चरित्र पर सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गएं । सोमेन्द्र आर्य ने सुमधुर भजन प्रस्तुत किया ।

 कार्यक्रम के संयोजक रवि प्रकाश आर्य रहे व धन्यवाद ज्ञापन मंत्री अखिलेश आर्य ने दिया ।इस कार्यक्रम में जिला आर्य प्रतिनिधि सभा वाराणसी-चन्दौली के पूर्व प्रधान अरुण आर्य, निवर्तमान मंत्री डॉक्टर शम्भूनाथ शास्त्री, आर्य वीर दल के संचालक दिनेश आर्य, विजय आर्य सहित अनेकों सदस्य, सदस्याएं व बच्चे उपस्थित रहें ।

************************************

बेख़ौफ़ खबर भारत न्यूज़ 

                             बृजेश कुमार सिंह की रिपोर्ट

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)