75 जिलों के नवाचारी एवं उत्कृष्ट शिक्षकों का हुआ सम्मान

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

वाराणसी। बेसिक शिक्षा विभाग वाराणसी तथा परिषदीय शिक्षकों के स्वप्रेरित ऊर्जावान, टेक्नोसेवी स्वतः स्फूर्त समूह एडूलीडर्स यूपी द्वारा अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस के उपलक्ष्य में 05 अक्टूबर को सनबीम स्कूल वरुणा के आडिटोरियम में "जी 20 निपुण भारत मिशन शैक्षिक गुणवत्ता सेमिनार एवं एडूलीडर्स यूपी अवार्ड " कार्यक्रम का आयोजन किया गया।


 जिसमें टीम एडूलीडर्स यूपी द्वारा प्रदेश के सभी 75 जनपदों में उल्लेखनीय कार्य कर रहे 75 चयनित उत्कृष्ट शिक्षको को एडूलीडर्स यूपी अवार्ड से सम्मानित किया गया। बेसिक शिक्षा विभाग वाराणसी द्वारा टीम एडूलीडर्स यूपी के सहयोग से आयोजित इस कार्यक्रम हेतु जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों को 75 उत्कृष्ट शिक्षको की सूची जारी किया है। कार्यक्रम का संयोजन बस्ती के राष्ट्रपति पदक प्राप्त शिक्षक डॉ सर्वेष्ट मिश्र ने किया।

 उल्लेखनीय है,एडूलीडर्स यूपी प्रदेश के परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत स्वप्रेरित, ऊर्जावान, टेक्नोसेवी  शिक्षको का एक स्वतःस्फूर्त समूह है जिसका नेतृत्व बस्ती जनपद के राष्ट्रपति पदक प्राप्त शिक्षक डॉ सर्वेष्ट मिश्र करते हैं। एडूलीडर्स यूपी शिक्षको के व्यावसायिक क्षमता वृद्धि, उनके कार्यों को प्रोत्साहन, बच्चो के लर्निंग़ ऑउटकम को सुनिश्चित करने तथा हर वर्ष प्रदेश के सभी 75 जनपदो से शिक्षको को एडूलीडर्स अवार्ड देने का कार्य करता है।

यह समूह सभी 75 जनपदों में अपने व्हाट्सप समूहो, फेसबुक कुटुंब पेज, वेबसाइट के माध्यम से बच्चों को गुणवत्तापूर्ण  शिक्षा व निपुण भारत मिशन की दक्षताओ को सुनिश्चित करने के लिए ऑनलाइन शैक्षणिक सामग्री निर्माण, निपुण भारत वर्कशीट, ज्ञान गंगा ब्लैकबोर्ड संदेश, संस्कार, बूझ भाई बूझ, बाल सवाल तथा शब्द संग्रह सन्देश प्रेषित करता है। 

शिक्षकों की क्षमता संवर्धन के लिए समय-समय पर ऑनलाइन वेबिनार, गोष्ठी व सरकार द्वारा समय समय पर संचालित राष्ट्रीय व राज्य स्तरीय कार्यक्रमो में सहयोगी के रूप में प्रतिभाग करता है।

एडुलीडर्स यूपी सम्मान के मुख्य अतिथि मुख्य विकास अधिकारी हिमांशु नागपाल ने अपने उद्बोधन में एडुलीडर्स टीम की सराहना करते हुए शिक्षकों को प्रेरित करते हुए कहा कि आप स्वप्रेरित रहते हुए ऊर्जा से भरे रहिए,उन्होंने स्वयं अपना उदाहरण देते हुए कहा कि वह स्वयं भी प्राथमिक विद्यालय के पढ़े हुए हैं।

 आपने कहा कि विद्यालय एक बाउंड्री युक्त भवन भर नही है। विद्यालय एक परिवार होता है जहां शिक्षा के साथ बच्चों का स्वास्थ्य, उनकी समस्याओं को हल करने के प्रयास किए जाने चाहिए। सीडीओ ने कार्यक्रम के संबंध में भविष्य में थीम बेस्ड प्रस्तुतिकरण का सुझाव दिया। कुछ शिक्षको ने अलग-अलग चैलेंज को बड़े सकारात्मक तरीके से हल करते हुए उत्कृष्ट उदाहरण प्रस्तुत किए हैं । संगोष्ठी में ऐसे सक्सेज स्टोरी को स्थान दिया जाए ताकि सकारात्मक विचारों और प्रेरणा का आदान प्रदान हो सके।

प्राचार्य डायट आजमगढ़ मनीराम सिंह ने अपने उद्बोधन में उत्कृष्ट शिक्षकों के प्रस्तुतिकरण की सराहना करते हुए कहा कि सर्वेष्ट मिश्र द्वारा एडुलीडर्स कार्यक्रम उत्कृष्ट शिक्षकों को मंच प्रदान करने का उत्कृष्ट प्रयास है। उनके साथ अपने सेवाकाल की स्मृतियों को याद किया और कहा कि समूह की सफलता समूह के लीडर पर निर्भर करती है। आज अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस पर इस कार्यक्रम में शिक्षकों का सम्मान गौरव का विषय है।एडी बेसिक वाराणसी मंडल डॉक्टर सत्य प्रकाश त्रिपाठी ने अपने उद्बोधन में एडुलीडर्स टीम को साधुवाद देते हुए  कार्यक्रम में आए हुए शिक्षकों की प्रस्तुतिकरण की सराहना की।

वाराणसी के जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉक्टर अरविंद पाठक ने अपने उद्बोधन में स्वागत करते हुए निपुण भारत अभियान को गति प्रदान करने वाली एडूलीडर्स की "निपुण प्रवाह" डिजिटल पहल की सराहना की।हरदोई के उत्कृष्ट शिक्षक रमेश कुमार द्वारा स्टेट पीटी चैंपियन तैयार करने की कहानी बताई। गोरखपुर के उत्कृष्ट शिक्षक यतींद्र गुप्ता ने अपने विद्यालय के अलावा समुदाय को जोड़ने के नवाचार को प्रस्तुत किया। ऐसे कुल 75 शिक्षकों ने अपना प्रस्तुतिकरण दिया।

इस अवसर पर वाराणसी के खंड शिक्षा अधिकारी गण एवं एडुलीडर्स के बृजेश गुप्ता, विनीत पंवार, सचिन सिंह, सुधांशु उपाध्याय, प्रीति मिश्रा, प्रतिज्ञा त्रिवेदी, उषा सिंह, सत्येंद्र कुमार, मुकुल कुमार सिंह, संतोष कुमार, अनिल कुमार भी उपस्थित रहे। मंच संचालन दीनबंधु त्रिपाठी द्वारा किया गया।

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)