न्याय प्रतिकार यात्रा मामले में प्रदेश अध्यक्ष अजय राय का बरी न होना सरकार के साजिश का हिस्सा है इसी प्रकरण के विरोध में जिला/महानगर कांग्रेस कमेटी के संयुक्त तत्वाधान में केंद्र व प्रदेश सरकार के खिलाफ सद्बुद्धि यात्रा निकाल कर कांग्रेसजनों ने कराया विरोध दर्ज

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

वाराणसी:न्याय प्रतिकार यात्रा मामले में प्रदेश अध्यक्ष अजय राय का बरी न होना सरकार के साजिश का हिस्सा है आज दिनांक 6 अक्टूबर को इसी प्रकरण के विरोध में जिला/महानगर कांग्रेस कमेटी के संयुक्त तत्वाधान में केंद्र व प्रदेश सरकार के खिलाफ सद्बुद्धि यात्रा निकाल कर कांग्रेसजनों ने विरोध दर्ज कराया

 सद्बुद्धि यात्रा लहुराबीर प्रदेश  अध्यक्ष के आवास से लोहटिया बड़ा गणेश जी मन्दिर तक निकाली गई प्रशासन ने जगह जगह बलपूर्वक यात्रा को रोकने का प्रयास किया परन्तु यात्रा घोषित कार्यक्रम के अनुसार पूर्ण हुई व बड़ा गणेश जी मन्दिर में पूजा-अर्चना कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ईश्वर सद्बुद्धि दे इसकी प्रार्थना की गई। उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष ,पूर्व मंत्री अजय राय ने कहा की --  न्याय प्रतिकार यात्रा मामले में मेरा बरी न होना सरकार के साजिश का हिस्सा है हमे द्वेषपूर्ण राजनैतिक भावना के जरिये मुकदमे में फसाये रखना अनुचित है।न्याय प्रतिकार यात्रा में 82 आरोपियों में 81 आरोपी दोष मुक्त किया गया 

वही हमे सिर्फ राजनीतिक द्वेष में फंसाया गया है क्योंकि मैंने समझौता नही किया मोदी-योगी के आगे झुका नही हूँ डटकर लड़ रहा हूं जिसका प्रतिफल है की मुझे बरी नही किया गया।इसका सीधा जिम्मेदार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी है


वर्ष 2015 में हुए अन्याय प्रतिकार यात्रा मामले में 82 लोगों पर मुकदमे किए गए थे। जिसमें राज्य सरकार के निर्देश पर हमको छोड़कर बाकी 81 लोगों को इस मामले में दोषमुक्त कर दिया गया।हम सदैव सत्य, न्याय और जनहित के लिए खड़े रहेंगे व यह जालिम हुकूमत मेरी आवाज को नही दबा पाएगी मेरा सार्वजनिक जीवन आप सबके सामने है।



हमने अपने राजनैतिक जीवन में हर वर्ग हर तबके को बराबर का सम्मान दिया जनता का कार्य किया जनमानस के हितों के लिए सदैव सँघर्ष किया व आज सँघर्ष के बदौलत खड़ा हूँ और डटकर खड़ा रहूँगा मैं पीछे हटने वालो में से नही हूँ हमे न्यायपालिका पर भरोसा निश्चित मेरे संग न्याय होगा,वही महानगर अध्यक्ष राघवेंद्र चौबे ने उक्त समय के घटनाक्रम का जिक्र करते बताया की- 2015 में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व तत्कालीन उ0प्र0 कांग्रेस के प्रभारी मधुसूदन मिस्त्री के निर्देशानुसार व शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद जी महाराज के आवाह्न पर तत्कालीन विधायक अजय राय जी कांग्रेसजनों के साथ प्रतिकार यात्रा में शामिल हुए थे क्योंकि वह लड़ाई काशी के अस्मिता व संस्कृति की लड़ाई थी।उसी मुकदमे में 81 लोगो को रिहा करना और अजय राय को फसाये रखना सरकार के नियत पर सवाल उठाता है।




उक्त अवसर पर अजय राय,राजेश्वर पटेल,राघवेन्द्र चौबे, प्रमोद पाण्डेय,प्रजानाथ शर्मा,अनिलश्रीवास्तव,मकसूद खां,दुर्गाप्रसादगुप्ता,गुलशन अली,फ़साहत हुसैन बाबू,डॉ राजेश गुप्ता,देवेन्द्र सिंह,अशोक सिंह,उमेश दृवेदी, राकेश चन्द्र शर्मा, श्रीप्रकाश सिंह,रामस्नेही पाण्डेय,पूनम विश्वकर्मा,हाजी इस्लाम, राजेश त्रिपाठी, सजय निगम,मनीष मोरोलिया,दिलीप चौबे,अतुल मालवीय,विश्वनाथ कुँवर, मनीष चौबे,आशिष केशरी, कुँवर यादव,अब्दुल हमीद डोडे,अफरोज अंसारी, असलम खां,मयंक चौबे, आशिष गुप्ता,प्रमोद वर्मा, सतनाम सिंह,राजेन्द्र गुप्ता, विपिन सिंह,सुनील राय, अनुभव राय, रोहित दुबे, किशन यादव,बेलाल, विनीत चौबे, समेत सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित रहे।।

***********************************

 बेख़ौफ़ खबर भारत न्यूज़ 

                                   बृजेश कुमार सिंह की रिपोर्ट

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)