काशीराज डॉ विभूति नारायण सिंह की 97 वी जयंती पर संस्कृति दिवस समारोह का किया गया आयोजन

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

वाराणसी : । काशी में शिव स्वरूप काशीराज डॉ  विभूति नारायण सिंह जी  की  97 वीं  जयंती के अवसर पर रविवार को प्रहलाद घाट स्थित बाल विश्वविद्यालय में विश्व संस्कृत प्रतिष्ठानम  के तत्वावधान मे संस्कृति दिवस समारोह  का आयोजन किया गया।


 कार्यक्रम का शुभारंभ श्री काशी विश्वनाथ मंदिर न्यास के सदस्य के वेंकटरमण घनपाठी ने वैदिक मंगलाचरण से किया। तत्पश्चात मुख्य अतिथि पद्मभूषण प्रोफेसर डॉ देवीप्रसाद द्विवेदी नागरी प्रचारिणी सभा के प्रधानमंत्री डॉ व्योमेश  शुक्ल, बालविश्वविद्यालय की निदेशिका डॉक्टर जयशीला पांडेय , डॉ अशोक कुमार सिंह  ने दीप प्रज्वलित कर किया। 

इस अवसर पर समाज में उल्लेखनीय योगदान करने वाली 11 विशिष्ट विभूतियों को काशीराज डॉ विभूति नारायण सिंह अलंकरण से सम्मानित किया गया।मुख्य अतिथि पद्मभूषण प्रोफेसर डॉ देवीप्रसाद द्विवेदी ने शिक्षाविद डॉ जयशीला पांडेय, हैंडबॉल की राष्ट्रीय खिलाड़ी वंदना सिंह, समाजसेवी श्रीप्रकाश अग्रवाल, आध्यात्मिक गुरु स्वामी अखंड सम्राट आनंद, डाईटिशियन साक्षी पांडेय,राजकीय चिकित्साधिकारी डॉ शिवशक्ति प्रसाद द्विवेदी, वैदिक विद्वान के वेंकटरमण घनपाठी , साहित्यकार  डॉ व्योमेश शुक्ल, शिक्षाविद प्रोफेसर कल्पलता पांडेय, प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ कर्मराज सिंह, डॉ पवन शास्त्री, सुप्रसिद्ध समाजसेवी डॉ अशोक राय ,वरिष्ठ अधिवक्ता मनोज सिंह तथा  सुप्रसिद्ध साहित्यकार -पत्रकार स्व, डॉक्टर गौरीशंकर गुप्त जी को  मरणोपरांत काशीराज डॉ विभूति नारायण सिंह अलंकरण से  सम्मानित किया।मुख्य अतिथि ने सभीको मान पत्र,अंगवस्त्रम  एवं रुद्राक्ष भेंटकर  सम्मानित किया।

 कार्यक्रम का संचालन कार्यक्रम संयोजक चक्रवर्ती विजय नावड ने किया। मुख्य अतिथि प्रो डॉ देवी प्रसादद्विवेदी ,को डॉक्टर अशोक कुमार सिंह ने काशीराज डॉ विभूति नारायण सिंह कीर्ति अलंकरण से सम्मानित किया। इससे पूर्व प्रातः  पंचगंगा घाट पर पंडित मयंक पांडे के नेतृत्व में माता पंचगंगा का भव्य  श्रृंगार,महाआरती एवं प्रसाद का वितरण किया गया।

 काशीराज जयंती के अवसर पर बाल विश्वविद्यालय में गीता ज्ञान प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें बड़ी संख्या मे बच्चों ने उत्साह के साथ भाग लिया।प्रतियोगिता का पुरस्कार वितरण बुधवार को बाल विश्वविद्यालय मे किया जायेगा। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से पण्डित शिवपूजन चतुर्वेदी, कुंवर ईशान सिंह, मनोज गुप्ता, बाल विश्वविद्यालय के प्रबंधक मुकुल पांडेय  ,प्राचार्या श्रीमती स्नेहलता पांडेय ,चंदन सर ,ज्योतिष एवं  वास्तु विशेषज्ञ पंडित प्रकाश मिश्र, चंदू अग्रवाल,नागेन्द्र वाजपेयी आदि उपस्थित थे।

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)