बुढ़ापे की लाठी का सहारा पुरानी पेंशन के लिए करेंगे हड़ताल

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

वाराणसी : पूरे देश का कर्मचारी पुरानी पेंशन की बहाली को लेकर विकेट 10 वर्षों से आंदोलनरत है पुरानी पेंशन में कर्मचारियों के 60 वर्ष की अधिवक्ता आयु पूरी होने पर सेवानिवृत्ति के फल स्वरुप आधे वेतन की राशि पेंशन के रूप में स्वीकृत की जाती रही है परंतु नई पेंशन योजना में वह सुविधाएं नहीं प्राप्त हो रही है


 जो पुरानी पेंशन में प्राप्त होती रही है।नई पेंशन योजना से कर्मचारियों को बहुत ही आर्थिक कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है उक्त बातें शशिकान्त श्रीवास्तव जिलाध्यक्ष राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद, जिला संयोजक पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मंच ने कहा और बताया कि  भारत सरकार के जनवरी 2004 और उत्तर प्रदेश सरकार के अप्रैल 2005 से नियुक्त कर्मचारी जो अब सेवानिवृत हो रहे हैं उन्हें नई पेंशन योजना लागू की गई है सेवानिवृत के फलस्वरूप तीन हजार भी पेंशन नहीं मिल पा रहा है इस कारण कर्मचारी पुरानी पेंशन को बुढ़ापे के लाठी का सहारा मानते हुए आन्दोलनरत है 


अब आर पार की लड़ाई के लिए तैयार है अब चाहे  भारत सरकार का कर्मचारी हो या उत्तर प्रदेश सरकार का हर अधिकारी और कर्मचारी यह मानने को तैयार है की नई पेंशन योजना लाभदायक नहीं है अपेक्षाकृत पुरानी पेंशन व्यवस्था के इसके लिए कर्मचारियों द्वारा लखनऊ से लेकर दिल्ली तक रैली किया जा चुका है और ज्ञापन के माध्यम से माननीय मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति जी का भी ध्यान आकर्षण कर चुका है लेकिन सकारात्मक परिणाम नहीं दिख रहे हैं इस कारण सभी श्रमिक संगठनों को अब हड़ताल की घोषणा के अलावा कोई चारा नहीं रह गया है जिसके लिए कर्मचारियों द्वारा सहमति पत्र भरवा जा रहे हैं और वही भारत सरकार के कर्मचारियों द्वारा गुप्त मतदान कराए जा रहे हैं 

यदि कर्मचारियों की सहमति 50 प्रतिशत से ऊपर होती है तो हड़ताल की घोषणा की जाएगी जिसके क्रम में आज सिंचाई विभाग कॉलोनी में काफी संख्या में कर्मचारियों ने सहमति पत्र भरा जिसमें महिलाओं ने भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। 

आज सहमति पत्र लिये जाने के अन्तिम दिन सिंचाई विभाग में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संघ, मिनिस्टीरियल कर्मचारी संघ, सर्किल आफिस, मुख्य अभियंता कार्यालय, सभी प्रखंड के कर्मचारी, सिंचाई संघ, ड्रांइग स्टाफ एसोसिएशन, डिप्लोमा इंजीनियर्स संघ, सिंचाई राजस्व अधिकारी संघ सहित सिंचाई विभाग के लगभग 16 संगठनों के पदाधिकारी व सदस्यों ने सहमति पत्र भरकर प्रतिबद्धता जताई वहीं स्वास्थ्य विभाग बाल विकास पुष्टाहार, पी डब्लू डी, नगर निगम, जलकल,सूचना जनसंपर्क विभाग, जीएसटी, श्रम विभाग, सेवायोजन कार्यालय, आईटीआई, शिक्षणोत्तर कर्मचारी संघ, शिक्षा विभाग ,माध्यमिक शिक्षा परिषद बोर्ड ऑफिस आदि विभागो के कर्मचारियों ने समिति पत्र भरा 

इस अवसर पर सर्वश्री श्याम राज यादव जिला मंत्री राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ई अजय पटेल,पी के राय, शकील अहमद, विरेन्द्र कुमार,विजय चौरसिया, संदीप श्रीवास्तव, अभिषेक सिंह, शशिकांत, अशोक कुमार,विजय शर्मा, हरेंद्र यादव, गीतांजलि मौर्या, गीता उपाध्याय, वीना सिंह,सुधीर सिंह, रोहित श्रीवास्तव,महेश श्रीवास्तव, रामनिवास,नसीम अहमद, आलोक दुबे, मनीष, प्रफूल्ल मिश्रा, जितेन्द्र, कमलेश सिंह, कमलेश पाण्डेय,प्रशांत सोनू,राज कुमार,ओमप्रकाश, अभिषेक ,रविश,जमीला,राम जियावन, विनोद, सुनील, सन्तोष, इब्राहिम, अतुल,आदि उपस्थित रहे।

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)