मण्डलायुक्त कौशल राज शर्मा की अध्यक्षता में पर्यवेक्षणीय समिति एवं मण्डलीय पर्यावरण समिति की हुइ बैठक

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

वाराणसी : मंडलायुक्त  कौशल राज शर्मा की अध्यक्षता में राष्ट्रीय हरित अधिकरण, नई दिल्ली द्वारा ओ0ए0 नं0 128/2021 (सौरभ तिवारी बनाम यूनियन ऑफ़ इण्डिया) व अन्य में पारित आदेश दिनांक  23.11.2021 के अनुपालन में पर्यवेक्षणीय समिति एवं मण्डलीय पर्यावरण समिति की बैठक आहूत की गई,


बैठक में नगर आयुक्त अक्षत वर्मा,प्रभागीय वनाधिकारी संजीव सिंह,अपर जिलाधिकारी (नगर) आलोक वर्मा, मुख्य चिकित्साधिकारी वाराणसी डॉ0 संदीप चैधरी समेत अन्य विभागीय अधिकारिगण उपस्थित रहे। बैठक संबंधित मुख्य बिंदु निम्नवत् हैं- बैठक में मण्डलायुक्त द्वारा सिंचाई विभाग, बंधी डिवीजन को निर्देशित किया गया कि वरूणा नदी एवं अस्सी नदी के डिसिल्टिंग तथा कंस्ट्रक्टेड वेट लैण्ड व बायोडायवर्सिटी पार्क के कार्य तत्काल कराना सुनिश्चित करें।


बैठक में प्रभागीय वनाधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि वरूणा नदी के तटबन्ध पर 15 हजार पौधरोपड़ कराया गया है तथा डी-सिल्टिंग के पश्चात् अतिरिक्त पौधारोपण का कार्य कराया जायेगा, तदोपरांत मंडलायुक्त द्वारा प्रस्तावित सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट की समीक्षा की गई।


 उक्त के संदर्भ में परियोजना प्रबंधक, उ0 प्र0 जल निगम द्वारा अवगत कराया गया कि 55 एम0एल0डी0 क्षमता के एस0टी0पी0 की स्थापना भगवानपुर में किये जाने हेतु कार्यादेश जारी कर दिया गया है तथा 21 माह में पूर्ण किया जाएगा। इस एस0टी0पी0 के माध्यम से अस्सी नदी से डिस्चार्ज हो रहे अतिरिक्त घरेलू मल-जल का ट्रीटमेंट और भी सुलभ होगा, 


मंडलायुक्त द्वारा नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एन0जी0टी0) द्वारा पारित आदेश के अनुपालन में अस्सी नदी एवं वरूणा नदी के चिन्हांकन एवं अतिक्रमण को हटाये जाने हेतु गठित समिति में वाराणसी नगर निगम, वाराणसी विकास प्राधिकरण, सिंचाई विभाग, बंधी डिवीजन एवं सम्बंधित मजिस्ट्रेट को माह दिसम्बर, 2023 तक कार्यवाही किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। 


मंडलायुक्त द्वारा जलकल विभाग को निर्देशित किया गया कि अस्सी नदी समेत अन्य जगहों से किसी भी दशा में अशुद्धीकृत सीवेज गंगा नदी या वरूणा नदी में निस्तारित न किया जाए इसका शतप्रतिशत अनुपालन किया जाना सुनिश्चित किया जाए।मंडलायुक्त द्वारा वाराणसी नगर निगम, को निर्देशित किया गया कि वायु प्रदूषण के स्तर को कम करने हेतु गेल इण्डिया लिमिटेड के सहयोग से सभी डीज़ल संचालित नावों को  सी0एन0जी0 संचालित इंजन में परिवर्तित किए जाने का कार्य 31 दिसम्बर, 2023 किया जाना सुनिश्चित किया जाए। दिनांक 31 दिसम्बर, 2023 के पश्चात् डीजल से संचालित होने वाले नावों के मालिकों के विरूद्ध कार्यवाही किया जाना सुनिश्चित किया जाए। 


वाराणसी में वायु प्रदूषण स्तर को कम करने हेतु मंडलायुक्त द्वारा परिवहन विभाग को यह निर्देशित किया गया कि 15 वर्ष से अधिक पुराने मोटर वाहनों के विरूद्ध कार्यवाही किया जाना सुनिश्चित किया जाए।मंडलायुक्त द्वारा यह भी निर्देशित किया गया कि चन्दासी कोयला मण्डी के कोयले का भण्डारण एवं विक्रय के कारण बढ़ते वायु प्रदूषण को रोकने एवं अन्यत्र पर्यावरणीय दृष्टिकोण से जिला प्रशासन, चन्दौली द्वारा एक माह के अन्दर समुचित कार्यवाही किया जाये।

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)