इंद्रधनुष ऑडिटोरियम मे 'मैं जिन्दा शहर बनारस हूं" द इंडियन रियल हीरोज अवार्ड सेशन 5 का आयोजन

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

वाराणसी । अनमोल सेवा समिति द्वारा वाराणसी में 3 दिसंबर को वार्षिकोत्सव में "मैं जिंदा शहर बनारस हूं" व इंडियन रियल हीरोज अवार्ड का आयोजन संत अतुलानंद कॉन्वेंट स्कूल बनारस में किया गया।


इस कार्यक्रम में बनारस की पुरातन सनातन संस्कृति कला और भावनाओं को उत्तार जाए गया,कलाकारों के माध्यम से कई रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम जो खेल संस्कृक्ति और सनातन से संबंधित रहे मंच पर प्रदर्शित किया गया,कार्यक्रम में देश और समाज के लिए काम करने वाले 51 समाजसेवियों को सम्मानित किया गया ।

जो अलग-अलग क्षेत्र में समाज के सुधार के लिए कार्य कर रहे हैं, इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर राव आईएएस वाराणसी के डायरेक्टर अजीत प्रकाश श्रीवास्तव, राहुल सिंह और केशव जालान शामिल हुए।

कार्यक्रम में लैंप लाइटिंग गेस्ट के तौर पर टीवी एक्ट्रेस, डिजाइनर श्वेता ओझा, अंशु पांडे अनमोल सेवा समिति ब्रांड एम्बेसडर, कुंबर शुभम सिंह, पीसीएस आदर्श सम्मिलित हुए। इस कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर लोकप्रिय युवा नेता अतुल सिंह, सोनभद्र जिला प्रभारी सौरभ श्रीवास्तव, जेलर सुरजीत सिंह, मोहित बजाज, प्रवीण वर्मा, डॉ प्रदीप सिंह, नीलम सिंह, बन्दना सिंह, नीलू राय, डॉक्टर दिव्यांशु मुख्य रूप से शामिल रहे।

खास मेहमानों में डॉक्टर तारीक शेख, अल्ट्राटेक सीमेंट से पंकज पोदार, रमा सिंह, राजलक्ष्मी राय, सीमा त्रिपाठी दुबे, एडवोकेट बलवंत सिंह, अध्यापक शरद सिंह, चाणक्य देव, राम आसरे प्रजापति, सुनीता गुप्ता इंटर नेशनल खिलाड़ी रोल बॉल, एम भावना, डॉक्टर शंकर कुमार मिश्रा PRO राजेश कुमार इसू मुख्य रूप से शामिल हुए कार्यक्रम में डॉक्टर सियारह विख्यात फैशन डिजाइनर, मॉडल ब्रांड एंबेसडर HWPL साउथ कोरिया, सेलिब्रिटी गेस्ट के तौर पर शामिल हुई। कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार करने के लिए नीलिमा ठाकुर, डॉ सुनीता तिवारी की अहम भूमिका रही,

कार्यक्रम का यह पांचवा सत्र था, कार्यक्रम के आयोजन एवं अनमोल सेवा समिति के फाउंडर अरविंद चक्रवाल का मानना है समाज में ऐसे कार्यक्रमों की नितांत आवश्यकता है

जो अपनी जमीन से जुड़ी चीजों को आज की पीढ़ी में रूपांतरित करें और समाज के लिए कार्य करने वाले लोगों को प्रोत्साहित करें ताकि भविष्य में ऐसे प्रोत्साहन से अन्य लोग भी जनसेवा में अपना योगदान दें और आने वाली पीढ़ियों को अपने सांस्कृतिक धरोहर, मूल्य और विरासत का मान हो।

वहीं सांस्कृतिक कार्यक्रम लक्ष्मण और हनुमान का प्रतिबिंब बने बच्चों ने अपने रंगारंग कार्यक्रम लोगों का मन मुक्त लिया जिसे देखकर परिसर में बैठ लोगों के जय श्री राम के जयकारे से पुरा परिसर गुंजायमान हो गया, इस मौके पर डॉक्टर सुनीता तिवारी (समाजसेवी) ने कहा की इस तरह का कार्यक्रम सभी जगह होना चाहिए जिससे कि हमारे संस्कृति को बल मिले और आने वाली पीढ़ी संस्कृति को जाने।

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)