पुलिस उपायुक्त काशी जोन द्वारा किया गया अपराधिक समीक्षा गोष्ठी, दिए गए आवश्यक निर्देश

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

वाराणसी।आर0एस0 गौतम पुलिस उपायुक्त काशी-जोन द्वारा पुलिस लाईन स्थित सभागार में अपराध समीक्षा गोष्ठी आयोजित की गई। उक्त गोष्ठी के दौरान चन्द्रकान्त मीना अपर पुलिस उपायुक्त काशी जोन, श्रीमती ममता रानी चौधरी अपर पुलिस उपायुक्त-महिला एवं अपराध, प्रवीण कुमार सिंह सहायक पुलिस आयुक्त- भेलूपुर,, अवधेश कुमार पाण्डेय सहायक पुलिस आयुक्त-दशाश्वमेध,अमित कुमार पाण्डेय सहायक पुलिस आयुक्त-कोतवाली, राजकुमार सिंह सहायक पुलिस आयुक्त चेतगंज सहित काशी-जोन के समस्त प्रभारी निरीक्षक थानाध्यक्ष तथा जीआरपी प्रभारी-कैण्ट, चौकी प्रभारी सिटी रेलवे स्टेशन हरि किशोर सिंह- संयुक्त निदेशक अभियोजन मौजूद थे।


उक्त गोष्ठी के दौरान पुलिस उपायुक्त काशी जोन द्वारा आवश्यक आदेश-निर्देश दिये गये- ट्रैफिक व्यवस्था पर समुचित कार्ययोजना बनाकर आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करें, जिससे की शहर जाम मुक्त हो सके।वर्तमान में शादी समारोह के कार्यक्रम होने के कारण अधिकतर लोग शादियों में सम्मिलित होने जाते हैं, जिससे लोगों का घर खाली रहता है, जिससे चोरी आदि की घटनाओं से इन्कार नहीं किया जा सकता है। 

अतः आप लोग रात्रि में गश्त एवं चेकिंग बढाएं।सभी थाना प्रभारी अपने अपने क्षेत्र के भूमि सम्बन्धी विवाद को चिन्हित कर लें तथा भूमि रजिस्टर को अपडेट करा लें। साथ ही विवाद वाले मामले में पर्याप्त निरोधात्मक कार्यवाही करते हुए सभी को पाबंद कराना सुनिश्चित करें।सभी थाना प्रभारी अपने-अपने क्षेत्र के सभी जमानत बाहर आये अपराधियों का चिन्हीकरण कर उनके ऊपर कड़ी सतर्क दृष्टि रखते हुए आवश्यक कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। माफियाओं व माफियाओं के सहयोगीगणों की सूची प्रत्येक थानाध्यक्ष निर्मित करेंगे व इनके विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही करेंगे।चेन स्नैचरों की पांच वर्षीय सूची तैयार कर इनके विरुद्ध गुण्डा व गैंगेस्टर की कार्यवाही व HS खोलने की व गैंग पंजीककरण की कार्यवाही करें।


गोकशी व गो तस्कर की सूची निर्मित कर आवश्यक कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। जहाँ अभी तक कैमरे नहीं लग पाये हैं उन सभी जगहों पर कैमरे लगवायें। काशी जोन में 18 ईनामी अपराधी है। इनका डोजियर निर्मित कर इन सभी की गिरफ्तारी भी करायें,अपराधियों द्वारा किये गये अपराधों द्वारा अर्जित संपत्ति की जानकारी कर आवश्यक कार्यवाही करें। दिन/रात्रि में भीड़-भाड़, मिश्रित आबादी वाले क्षेत्रों में प्रतिदिन फूट पैट्रोलिंग की कार्यवाही किया जाए और उसका उल्लेख किया जाए।


समस्त सहायक पुलिस आयुक्त तथा प्रभारी निरीक्षक थानाध्यक्ष अपने बीटक्षेत्र में पकड़ बनाने के लिये अधिनस्थ कर्मियों से बीट बुक तैयार करायेंगे तथा सभी की बीट बुक चेक करेंगे व आवश्यक दिशा निर्देश देंगे। सभी कर्मियों को अपने अपने बीटक्षेत्र के विवाद को चिन्हीकरण कर बीट लिखवाने के लिए निर्देशित करेगे।सफेद पोश अपराधियों/आर्थिक अपराधियों/धोखाधड़ी करने वाले अपराधियों के विरुद्ध गैगेस्टर एक्ट की कार्यवाही के निर्देश दिये गये एवं अपराधियों के विरुद्ध गुण्डा एक्ट की कार्यवाही कर जिला बदर की कार्यवाही कराने हेतु भी निर्देशित किया गया।सक्रिय अपराधियों की हिस्ट्रीशीट खोलने व निगरानी हेतु निर्देशित किया गया।



 इनकी निगरानी दिन व रात में अलग अलग की जाये।सक्रिय अपराधियों व माफियाओं की संपत्ति की कुर्की की कार्यवाही संपादित करने हेतु निर्देशित किया गया।गोष्ठी के दौरान यह भी निर्देश दिया गया कि किसी भी कार्यक्रम लाउड स्पीकर का प्रयोग तेज ध्वनि में न हो । न्यायालय के आदेशानुसार निर्धारित डेसीबल में ही ध्वनि विस्तारक यंत्रों का प्रयोग किया जायेगा। यह सुनिश्चित किया जायेगा कि लाउड स्पीकर की आवाज कार्यक्रम स्थल से बाहर न जाये।टॉप-10 अपराधियों की का सत्यापन कर ले और उनके मुकदमों की प्रभावि पैरवी कर सजा दिलाया जाए।



पुरस्कार घोषित, वारण्टी एवं वांछित अभियुक्तो की गिरफ्तारी हेतु अभियान चलाकर कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया गया।साइबर क्राइम के अपराधो/घटनाओं के रोकथाम के लिए अभियान चलाकर जागरूक करने हेतु निर्देशित किया गया।छोटी-छोटी घटनाओं पर विशेष ध्यान देने एवं मौके पर प्रभारी निरीक्षक व सहायक पुलिस आयुक्त को घटना-स्थल पर समय से पहुंचने हेतु निर्देशित किया गया। समस्त सहायक पुलिस आयुक्त काशी-जोन को अपने-अपने जोन में लम्बित विवेचनाओं का अतिशीघ्र गुणवत्तापूर्ण अभियान चलाकर निस्तारण हेतु निर्देशित किया गया।



IGRS के माध्यम से प्राप्त शिकायती प्रार्थना पत्रों का निस्तारण समय व गुणवत्ता से करने हेतु सम्बन्धित को निर्देशित किया गया। चैन स्नैचिंग व छिनैती वाले हॉटस्पॉट स्थानों को चिन्हित कर सम्बन्धित को नियमित चेकिंग हेतु निर्देशित किया गया ।जन सामान्य की समस्याओं को थाना प्रभारियों द्वारा प्राथमिकता के आधार पर थाना स्तर पर ही निस्तारण हेतु निर्देशित किया गया तथा आगंतुक के साथ विनम्रता पूर्वक व्यवहार रखने हेतु निर्देशित किया गया । नियमित वाहन चेकिंग किया जाए तथा चेकिंग के दौरान विशेष कर तीन सवारी/बिना हेलमेट चलने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध अभियान चलाकर प्रभावि कर्यवाही की जाए। इस दौरान किसी के साथ किसी प्रकार का दुर्व्यवहार न किया जाए।

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)