मंडलायुक्त की अध्यक्षता में नगर निगम की सफाई व्यवस्था का किया गया समीक्षा

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

वाराणसी। मंडलायुक्त कौशल राज शर्मा ने नगर निगम द्वारा शहर में की जा रही सफाई व्यवस्था का बारीकी से समीक्षा की। उन्होंने गलियों में कूड़ा फेंकने वालों की प्रूफ के साथ पहचान करते हुए उनको उसी दिन पेनाल्टी लगाने का निर्देश दिया। 



मंडलायुक्त ने चिन्हित 9 वार्डों का कैमरेवार विश्लेषण करने हेतु निर्देशित किया गया। उन्होंने कहा कि सभी खाली प्लाट मालिकों से उनके प्लॉट में इक्कठे/फेंके हुए कूड़े को साफ कराने हेतु निर्देशित करें तथा साफ न होने की दशा में उनसे जुर्माना वसूल करें। सफाई व्यवस्था के सुधार हेतु सार्वजनिक विज्ञप्ति देते हुए उसके पम्पलेट बटवाने हेतु भी निर्देशित किया। 



उन्होंने लगातार अनुपस्थित रहने वाले कर्मचारियों की पहचान करते हुए उनको हटाने हेतु भी निर्देशित किया। कैटल कैचर की लगातार समीक्षा करते हुए सभी 9 वार्ड में खुल्ला घूमने वाले पशुओं की पहचान करने का निर्देश दिया। 


सुपरवाइजर को सभी व्यवस्थाओं के बारे में विस्तार से अवगत कराएं तथा उनसे लगातार उनके क्षेत्र की सफाई व्यवस्था की जानकारियां लेते हुए उनकी जिम्मेदारी तय करें। कूड़ा गाड़ी को जीपीएस से इंटीग्रेटे करते हुए डोर टू डोर कूड़ा उठान का सत्यापन करने हेतु निर्देशित किया। जो घर कूड़ा नहीं दे रहे उनपर ध्यान देते हुए कूड़ा फेंकने की दशा में उनपर पर जुर्माना लगाने हेतु निर्देशित किया। 


दुकानदारों को डस्टबीन रखने हेतु लगातार जागरूकता अभियान चलायें और उसके बाद भी अगर जो लोग लापरवाही करें उनसे करसड़ा तक कूड़ा गाड़ी के भाड़े के साथ पेनाल्टी तय करें। सार्वजनिक रूप से गंदगी फैलाने वालों की पहचान करते हुए अर्थ दंड लगाने का कार्य करें। 


सफाई व्यवस्था की समीक्षा करते हुए उन्होंने शिफ्ट वार सफाई कराने तथा सफाई कर्मी की उपस्थिति की जियोफेसिंग से समीक्षा करने हेतु निर्देशित किया। मणिकर्णिका तथा हरिश्चन्द्र घाट पर बड़े-बड़े डस्टबीन रखने हेतु निर्देशित किया ताकि वेस्ट को अलग किया जा सके। 


एक सप्ताह तक सफाई हेतु लगातार अभियान चलाने हेतु नगर आयुक्त को निर्देशित करते हुए उन्होंने तीन दिन तक वार्ड मेंबर तथा औरों से जगह-जगह जमे कूड़े की पहचान करते हुए अगले दिन से गाड़ी लगाकार सभी कूड़ा हटवा दें उसके बाद अगर वहाँ कूड़ा इकट्ठा हो तो संबंधित की पहचान करते हुए जुर्माना लगाएं। 


मंडलायुक्त ने एनजीओ की संख्या बढ़ाने हेतु निर्देशित किया ताकि ज्यादे लोगों को जागरूक किया जा सके जिसपर नगर स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि अभी तीन एनजीओ काम कर रहे। 


नगर स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा बताया गया कि 9 वार्डों में सफाई व्यवस्था की जियोफेसिंग से विश्लेषण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि रेजिडेंशियल एरिया में एक बार, मंदिर वाले क्षेत्रों में नाइट शिफ्ट तथा कमर्शियल एरिया में द्वितीय व तृतीय शिफ्ट में सफाई करायी जाती है।

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)