तिर्थाटन और पर्यटन के अन्तर को ध्यान में रखकर तीर्थ यात्रा करें : ज्योतिष्पीठाधीश्वर शङ्कराचार्य स्वामिश्रीः अविमुक्तेश्वरानंदः सरस्वती '१००८'

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

नरेंद्रनगर( टिहरी। विश्व प्रसिद्ध बदरीनाथ मंदिर के कपाट 12  मई कोे प्रात:  6 बजे  खुलेंगे। बसंत पंचमी को राजदरबार नरेंद्र नगर में आयोजित धार्मिक समारोह  में पूजा-अर्चना और वैदिक पंचांग गणना के बाद कपाट खुलने की तिथि की घोषणा की गयी गई। तेल-कलश यात्रा की तिथि  25 अप्रैल को तय हुई। 



टिहरी राजदरबार नरेंद्रनगर में आज प्रातः से कपाट खुलने की तिथि घोषित करने के लिए कार्यक्रम शुरू हआ महाराजा मनुजेन्द्र शाह की उपथिति में पंचांग गणना पश्चात राजपुरोहित आचार्य कृष्ण प्रसाद उनियाल ने तिथि तय कर महाराजा के सम्मुख रखी तत्पश्चात महाराजा मनुजयेंद्र शाह ने कपाट खुलने की तिथि की  विधिवत घोषणा की इस दौरान राजमहल परिसर जय बदरी विशाल के उद्घोष से गूंज उठा।



इससे पहले श्री डिमरी धार्मिक केंद्रीय पंचायत के पदाधिकारी- सदस्यों ने तेल कलश राजदरबार को सुपुर्द किया। इसी कलश में राजमहल से तिलों का तेल पिरोकर  25  अप्रैल तेलकलश यात्रा राजमहल से शुरू होकर कपाट खुलने की तिथि पर भगवान बदरीविशाल के अभिषेक हेतु श्री बदरीनाथ धाम पहुंचेगी । 



'परमाराध्य' परमधर्माधीश उत्तराम्नाय ज्योतिष्पीठाधीश्वर अनन्तश्रीविभूषित जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामिश्रीः अविमुक्तेश्वरानंदः सरस्वती '१००८' महाराज ने  इस अवसर पर अपने संदेश में कहा बडी संख्या में लोग तीर्थों, मन्दिरों की ओर आ रहे हैं । लेकिन हमे यह याद रखना होगा कि जब हम घर से निकलें  मन्दिर पिकनिक स्पाट या टाइमपास करने की जगह नही है अपितु आध्यात्मिक अनुभूति और परमानन्द प्राप्त करने की जगह है । उन्होंने कहा कि हमें तीर्थाटन और पर्यटन में अंतर को समझना होगा।



कपाट खुलने की तिथि तय होने के अवसर ज्योतिष्पीठाधीश्वर शंकराचार्य स्वामिश्रीः  अविमुक्तेश्वरानंदः सरस्वती '१००८' महाराज के शिष्य मुकुन्दानंद ब्रह्मचारी, भगवान बदरीविशाल के मुख्यपुजारी श्री ईश्वरप्रसाद नम्बूदरी , सांसद राज्यलक्ष्मी शाह, BKTC के अध्यक्ष अजेन्द्र अजय, डिमरी पंचायत अध्यक्ष आशुतोष डिमरी, मंदिर समिति सदस्य  वीरेंद्र असवाल, श्रीनिवास पोस्ती, पुष्कर जोशी भास्कर डिमरी, राजपाल जड़धारी,  हरीश डिमरी, विनोद डिमरी, सुरेश डिमरी,  मुख्यकार्याधिकारी योगेंद्र सिंह, अनुसचिव धर्मस्व  रमेश रावत, धर्माधिकारी राधाकृष्ण थपलियाल, अधिशासी अभियंता अनिल ध्यानी, निजी सचिव प्रमोद नौटियाल, BKTC मीडिया प्रभारी डा.हरीश गौड़, माधव नौटियाल, संजय डिमरी, ज्योतिष डिमरी, शिवानन्द उनियाल आदि मौजूद रहे ।


कपाट खुलने की तिथि घोषित होने पर काशी में भी हर्षोल्लास का माहौल

बदरीनाथ मंदिर के कपाट खुलने की तिथि घोषित होने पर काशीवासी भक्तों में भी हर्ष की लहर दौड़ गई है।तथा भक्तों ने इसके निमित्त एक दूसरे को मंगलकामनाएं सम्प्रेषित की।

Tags:

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)