कूटरचित दस्तावेज तैयार कर जमीन हड़पने के मामले मे वांछित अभियुक्त को सारनाथ पुलिस ने किया गिरफ़्तार

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

वाराणसी। पुलिस आयुक्त द्वारा अपराधों की रोकथाम व वांछित फरार अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु चलाए जा रहे अभियान के क्रम में पुलिस उपायुक्त वरुणा जोन के निर्देशन मे अपर पुलिस उपायुक्त वरुणा जोन के पर्यवेक्षण मे एवं सहायक पुलिस आयुक्त सारनाथ के नेतृत्व मे थाना सारनाथ पुलिस टीम द्वारा मु0अ0 सं0-001/2024 धारा 419,420,467,468,471,506 भा0द0वि0 थाना सारनाथ कमिश्नरेट वाराणसी से संबंधित वांछित अभियुक्त 1- राजऋषि यादव पुत्र बैजनाथ नि० ग्रा० ताला बेला थाना चोलापुर  हाल पता ग्रा० परशुरामपुर थाना सारनाथ व 2-अनिल कुमार पटेल पुत्र स्व० हरिश्चन्द्र पटेल नि० ग्रा० परशुरामपुर थाना सारनाथ को दि- 14.02 .2024 को समय करीब 22.15 बजे परशुरामपुर थाना सारनाथ से गिरफ्तार किया गया।


उक्त सम्बन्ध में थाना सारनाथ पुलिस द्वारा आवश्यक विधिक कार्यवाही की जा रही है। 2.01.2024 को वादी मुकदमा बालक दास चेला स्व जोगिन्दर दास निवासी सतनाम दरिया आश्रम वार्ड सारनाथ, अकथा शिवपुरवाँ, परगना शिवपुर, तहसील सदर के द्वारा दिये गये प्रार्थना पत्र जिसमे प्रार्थी/वादी सतनाम दरिया आश्रम में 10 वर्ष की अवस्था से ही समस्त सासारिक माया मोह व घर-बार को त्याग कर उपरोक्त आश्रम पर अपने गुरू स्व० जोगिन्दर दास चेला स्व0 रामधारी दास की सेवा टहल व भक्ति भाव करते हुए आश्रम से जुड़ा रहा। स्व० जोगिन्दर दास चेला स्व0 रामधारी दास ने अपने चेला बालक दास को दिनांक 14.10.2003 को एक पंजीकृत वसीयत करके अपना उत्तराधिकारी बना दिया। दिनांक- 17.12. 2020 ई0 को जोगिन्दर दास चेला स्व0 रामधारी दास की मृत्यु हो गई। तत्पश्चात् सतनाम दरिया आश्रम के स्वामी जरिये पंजीकृत वसीयत बालक दास चेला स्व० जोगिन्दर दास हो गये। बाबा जोगिन्दर दास की मृत्यु के पश्चात् राजऋषि यादव व उनके मित्र अनिल कुमार पटेल जो कि अक्सर आश्रम पर आते-जाते थे,एक दिन हम प्रार्थी/वादी से यह कहकर कुछ सादे स्टाम्प व कुछ सादे कागज पर हस्ताक्षर कराये कि राजस्व अभिलेखों में अभी जोगिन्दर दास चेला स्व0 रामधारी दास का ही नाम चला आ रहा है, लाइये हम लोग आपके नाम वरासत करा देते है। प्रार्थी/वादी इनकी बातों पर विश्वास करके अपने नाम की मूल वसीयत,अपना आधार कार्ड, फोटो,गुरू जोगिन्दर दास का मृत्यु प्रमाण पत्र दे दिया। तत्पश्चात् इन लोगों ने प्रार्थी/वादी की अनु पस्थिति में नामान्तरण वाद दाखिल करके कूटरचित अपंजीकृत वसीयत के आधार पर अपना नाम भी राजस्व अभिलेखों में दर्ज करवा लिया,इस तरह से राजऋषि यादव व अनिल कुमार पटेल व हासिया गवाह भोला प्रसाद पुत्र स्व मथुरा प्रसाद निवासी ग्राम बहोरीपुर,पो० बीरापट्टी, जिला वाराणसी व राजनाथ पुत्र स्व बैजनाथ निवासी ताला, परगना कटेहर, तहसील सदर, जिला वाराणसी ने पुष्ट किया है। कूटरचित वसीयत भोला प्रसाद द्वारा तैयार किया जाना बताया जाता है। ज्ञातव्य हो कि इस पूरी कार्यवाही को इन लोगों द्वारा गुप्त रूप से कारित किया गया। प्रार्थी बालक दास को जब इसकी जानकारी। हुई तो राजऋषि यादव व अनिल कुमार पटेल से बोले की आप लोगों ने मेरे साथ छल-कपट करके साजिशन कूटरचित दस्तावेज तैयार करके राजस्व अभिलेखों में मेरे साथ-साथ अपना नाम भी दर्ज कराकर मेरे साथ बहुत बड़ा अन्याय किया है। मैं इसकी शिकायत करूँगा। इतने में ये लोग आग बबूला होकर मुझे भला-बुरा कहने लगे तथा जान से मारने की धमकी देते हुए दौड़ा लिए। प्रार्थी किसी तरह आश्रम में भागकर अपनी जान बचायी,घटना के वक्त मौके पर बहुत से भक्त व अनुयायियों के आ जाने के कारण ये लोग मौके से भाग गये। ये लोग बार-बार प्रार्थी को जान से मारने की मौत ही हम लोगों के नाम हो जायेगा। उपरोक्त प्रार्थना पत्र के आधार पर थाना सारनाथ में मु0अ0सं0-001/2024 धारा419,420,467,468,471,506 भा0द0वि0 का अभियोग पंजीकृत कर, विवेचना उ0नि0 दुर्गेश सिंह द्वारा संपादित की जा रही है,गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम प्र0नि0 उदय प्रताप सिंह थाना सारनाथ,उ0नि0 दुर्गेश सिंह,उ0नि0 राहुल कुमार यादव,का0 देवेन्द्र प्रताप सिंह थाना सारनाथ कमिश्नरेट वाराणसी।

Tags:

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)