मंडलायुक्त की अध्यक्षता में जापान इंटरनेशनल कॉरपोरेशन एजेंसी (जायका) की पांचवीं संयुक्त समन्वय समिति की बैठक

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

वाराणसी।  मंडलायुक्त कौशल राज शर्मा की अध्यक्षता में जापान इंटरनेशनल कॉरपोरेशन एजेंसी (जायका) की पांचवीं संयुक्त समन्वय समिति की बैठक आहूत की गयी जिसमें वाराणसी में पर्यावरण स्वच्छता के व्यापक सुधार के लिए परियोजना (CIESV) पर व्यापक चर्चा की गयी।


इन परियोजना पर जेआईसीए विशेषज्ञ टीम अधिकारियों के साथ मिलकर काम कर रही है जिसमें वीएनएन, जल कल और यूपीजेएन की योजना के अनुसार गतिविधियों को लागू करने का कार्य कर रहे हैं। जायका के प्रतिनिधियों द्वारा विभिन्न गतिमान तथा प्रस्तावित परियोजनाओं का विवरण प्रेज़ेंटेशन के माध्यम से मंडलायुक्त के समक्ष रखा गया तथा उक्त के संबंध में विस्तृत परिचर्चा की गयी।




बैठक में जायका टीम द्वारा सालिड वेस्ट मैनेजमेंट के तहत जानकारी देते गयी हुए घरेलू कचरे के लिए प्रबंधन के तीन नियमों के बारे में बताया गया जिसमें कचरे को अलग करना, डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन तथा खुले में कूड़े को फेंकने से बचना शामिल है। बैठक में नगर निगम में शामिल हुए कंचनपुर क्षेत्र में वेस्ट वाटर ट्रीटमेंट तथा पर्यावरण सुरक्षा के तहत किये गये प्रयासों को भी रखा गया जिसमें कंचनपुर में पैकेज्ड सीवेज ट्रीटमेंट यूनिट (पीएसटीयू) की भी स्थापना की गई है तथा इसकी फ़ीसबिलिटी असेसमेंट का भी कार्य किया जा रहा है।बैठक में मंडलायुक्त को यह अवगत कराया गया कि जायका द्वारा फेज-१ में जलापूर्ति, सीवेज़ तथा सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट का कार्य पूर्ण किया जा चुका है 



तथा वर्तमान में जलापूर्ति, ठोस अपशिष्ठ प्रबंधन आदि पर कार्य कराया जा रहा है तथा कंचनपुर क्षेत्र में जागरूकता हेतु विभिन्न अभियान भी चलाए जा रहे हैं।मंडलायुक्त द्वारा नगर आयुक्त को एक आंतरिक समाधान उन्मुख कार्यशाला आयोजित करने हेतु निर्देशित किया गया विभिन्न शहरों में वेस्ट मैनेजमेन्ट के तहत किये जा रहे कार्यों का एक्सपोजर लेकर लौटे अधिकारियों द्वारा अपने अनुभवों को साझा किया जा सके जिससे कि नगर की आंतरिक कमियों की पहचान की जा सके और उसके समाधान निकाले जा सकें। उन्होंने एजुकेशन, सेग्रीगेशन, अवेयरनेस तथा कम्यूनिटी प्रबंधन पर कार्य करने हेतु निर्देशित किया तथा कलेक्शन, डाटाबेस तथा प्रबंधन प्रणाली को दुरुस्त करने हेतु भी निर्देशित करते हुए जोन तथा वार्ड स्तर पर कार्यों के बंटवारा करने हेतु निर्देशित किया।मंडलायुक्त ने कहा कि किस प्रकार हम कम खर्च में अच्छे आउटपुट प्राप्त कर सकते इस पर कार्य करने की योजना होनी चाहिए। 




उन्होंने कार्यशाला में स्मार्ट सिटी, टूरिज्म, यूपीपीसीएल सभी को आमंत्रित करने को कहा ताकि उनके भी अनुभवों को साझा किया जा सके।मंडलायुक्त द्वारा जायका के प्रतिनिधियों का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए वाराणसी में संयुक्त प्रयास से विभिन्न अनुपम कार्य किए जाने की बात कही गई।बैठक में नगर आयुक्त अक्षत वर्मा द्वारा जायका टीम द्वारा किये जा रहे कार्यों की तारीफ करते हुए शहर में सालिड वेस्ट मैनेजमेंट तथा नगर निगम में शामिल नये क्षेत्रों में अग कुछ महीने में पूरी तरह डोर टू डोर कूड़ा उठान की बात कही गयी। 



नगर आयुक्त द्वारा बताया गया कि वर्तमान में वाराणसी में 1100 मेट्रिक टन (एमटी) प्रतिदिन कूड़े का उत्पादन हो रहा जिसके निस्तारण को करसड़ा प्रॉसेसिंग यूनिट वेस्ट टू चारकोल प्लांट तथा रमना प्लांट में लगातार प्रयास किये जा रहे हैं।  बैठक में जायका से जापानी प्रतिनिधिगण समेत नगर निगम, जल निगम समेत अन्य विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।


Tags:

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)