8 जून की जगह अब 9 जून कोहो सकता है शपथ ग्रहण समारोह, तीसरी बार पीएम पद की शपथ लेते ही मोदीजी के नाम जुड़ेगा एक नया रिकॉर्ड

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

नई दिल्ली। 2024 लोकसभा चुनाव के आश्चर्यचकित  नतीजे के बाद बीजेपी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार के शपथ ग्रहण की कवायद तेज हो गई है। शपथ ग्रहण की तारीख को लेकर नया अपडेट आया है। सूत्रों के मुताबिक, 8 जून की जगह अब 9 जून को शपथ ग्रहण समारोह हो सकता है। यानी नरेंद्र मोदी तीसरी बार पीएम पद की शपथ 9 जून को ले सकते हैं। मंत्रिमंडल को लेकर बैठकों का दौर चल रहा है। इस बीच कांग्रेस ने 8 जून को CWC की बैठक बुलाई है। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने 8 जून को सुबह 11 बजे कांग्रेस मुख्यालय में बैठक बुलाई है। बैठक में CWC के सभी नेता शामिल होंगे।



लोकसभा चुनाव में एनडीए को बहुमत मिला है और तीसरी बार सत्ता बनाने जा रहा है। एनडीए ने 292 सीटों पर जीत दर्ज की और बहुमत हासिल किया हैं। हालाकि बीजेपी अपने दम पर बहुमत हासिल नही कर पाई। बीजेपी ने 240 सीटों पर जीत हासिल की है, जो बहुमत के आंकड़े से 32 सीट कम हैं। विपक्षी गठबंधन इंडिया ब्लॉक ने 234 सीटें जीत दर्ज किया हैं।




2014 के चुनाव में बीजेपी ने नरेंद्र मोदी की अगुआई में 282 और 2019 के चुनाव में 303 सीटें जीतकर अकेले दम पर बहुमत हासिल किया था। हालांकि, इस बार सहयोगी दलों को मिलाकर NDA बहुमत हासिल कर पाया है।


तीसरी बार पीएम पद की शपथ लेते ही नरेंद्र मोदी के नाम एक नया रिकॉर्ड भी जुड़ जाएगा। वे देश के दूसरे ऐसे नेता बन जाएंगे, जो लगातार तीसरी बार चुनाव जीते और देश के पीएम बने. इससे पहले यह रिकॉर्ड जवाहर लाल नेहरू के नाम पर है। मोदी उनके रिकॉर्ड की बराबरी करेंगे.


बता दें कि 2019 के नतीजों के 7 दिन बाद प्रधानमंत्री  पद का शपथ ग्रहण समारोह आयोजित हुआ था। 2014 में जब एनडीए सरकार बनी थी तब 10 दिन बाद मोदी ने प्रधानमंत्री पद की शपथ ग्रहण की थी। इस बार नतीजे आने के बाद 5 दिन बाद यानी 9 जून को शपथ ग्रहण की तैयारी होने की खबर है।


इससे पहले बुधवार को 'इंडिया' गठबंधन दलों की पहली बैठक हुई। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे के आधिकारिक आवास '10, राजाजी मार्ग' पर हुई इस बैठक में सरकार गठन की संभावनाओं और आगे की रणनीति पर चर्चा की गई। तकरीबन 2 घंटे तक मंथन के बाद इंडिया गठबंधन ने अहम फैसला लिया। गठबंधन के नेताओं ने साफ किया कि वे अभी सरकार बनाने के पक्ष में नहीं हैं और दावा पेश नहीं करेंगे।


कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि, ये जनादेश भारत के संविधान की रक्षा करने के लिए और महंगाई, बेरोजगारी, क्रोनी कैपिटलिज्म के खिलाफ और संविधान को बचाने के लिए है। इंडिया गठबंधन बीजेपी के फासीवादी शासन के खिलाफ लड़ता रहेगा। हम लोगों की इस भावना को देखते हुए कि वो मोदी का शासन नहीं चाहते, सही वक्त पर सही कदम उठाएंगे।


इंडिया गठबंधन के नेताओं ने तय किया है कि बीजेपी के खिलाफ उनकी लड़ाई आगे भी जारी रहेगी। वहीं, गठबंधन के विस्तार पर चर्चा हुई। मीटिंग में ये भी फैसला लिया गया कि समान विचारधारा के दलों को गठबंधन में शामिल होने के लिए निमंत्रण दिया जाएगा।




INDIA ब्लॉक की बैठक में मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि 18वीं लोक सभा चुनाव का जनमत सीधे तौर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ है। चुनाव उनके नाम और चेहरे पर लड़ा गया था और जनता ने भाजपा को बहुमत नहीं देकर उनके नेतृत्व के प्रति साफ संदेश दिया है। व्यक्तिगत रूप से मोदी जी के लिए यह ना सिर्फ राजनैतिक शिकस्त है, बल्कि नैतिक हार भी है। इंडिया गठबंधन भारत की आवाज़ है, और इस आवाज़ ने अपना निर्णय साफ-साफ सुना दिया है। देश की जनता ने लोकतंत्र और संविधान की रक्षा में अपना पूरा ज़ोर लगा दिया है, और इस संकल्प को हम पूरी शक्ति के साथ आगे बढ़ाएंगे।




*इंडिया गठबंधन की बैठक में शामिल होने वाले नेता* । *मल्लिकार्जुन खड़गे - कांग्रेस,*सोनिया गांधी - कांग्रेस,*राहुल गांधी - कांग्रेस*

,*के.सी. वेणुगोपाल - कांग्रेस,*शरद पवार - एनसीपी,*सुप्रिया सुले - एनसीपी,*एम. के. स्टालिन - डीएमके,*टी. आर. बालू - डीएमके,*अखिलेश यादव - सपा,*रामगोपाल यादव - एसपी,*प्रियंका गांधी वाद्रा - कांग्रेस,*अभिषेक बनर्जी - तृणमूल कांग्रेस,*अरविंद सावंत - शिवसेना (यूबीटी),*तेजस्वी यादव - राजद,*संजय यादव - राजद,*सीताराम येचुरी - सीपीआई (एम),*संजय राऊत - शिवसेना (यूबीटी),*डी. राजा - सीपीआई,*चंपई सोरेन - झामुमो,*कल्पना सोरेन - झामुमो,*संजय सिंह - आप,*राघव चड्डा - आप,*दीपांकर भट्टाचार्य - सीपीआई (एमएल),*उमर अब्दुल्ला - जेकेएनसी,*सैय्यद सादिक अली शिहाब थंगल - IUML,*पी. के. कुन्हालीकुट्टी - आईयूएमएल,*जोस के. मणि - केसी (एम),*थिरु थोल. थिरुमावलवन वीसीके,*एन.के. प्रेमचंद्रन - आरएसपी,*डॉ. एम.एच. जवाहिरुल्लाह - एमएमके,*जी. देवराजन - एआईएफबी,*थिरु ई. आर. ईश्वरन - KMDK,*डी. रविकुमार - वीसीके*

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)