कैंटीन के व्यवसायीकरण के विरोध में कर्मचारियों का विरोध जारी

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

लालगंज, रायबरेली। रेलकोच फैक्ट्री में वर्कर कैंटीन के व्यापरीकरण के विरोध में कर्मचारी यूनियनो का विरोध जारी है। बीते चार दिनो से बिना खाये कर्मचारी फैक्ट्री में रेलवे का कार्य कर रहे हैं। बताया गया है कि दोपहर की भूख हड़ताल बीते दिनो से जारी है। कर्मचारी यूनियनों ने कहा कि उनकी मांगे न मानी गयीं तो वे फैक्ट्री के मेनगेट पर धरना प्रदर्शन शुरू करेंगे। 


आपको बता दें कि इस मनमानी के खिलाफ फैक्ट्री की सभी कर्मचारी यूनियने मिल कर विरोध कर रही हैं। जानकार सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दोपहर में प्रश्नगत कैंटीन में करीब 400 थालियां निकलती थीं वहीं तीन दिन से प्रतिदिन 20 थाली निकलनी मुश्किल हो रही है। कर्मचारी यूनियन के नेता आदर्श बघेल, नैब सिंह व रोहित मिश्रा ने बताया कि कैंटीन का व्यापरीकरण कर दिये जाने से खाना व नाश्ता आदि मंहगा हो गया है। पूरे दिन हाड़तोड़ मेहनत कर फैक्ट्री में कोचों के उत्पादन में चार चांद लगाने वाले कर्मचारियों का अब रेलवे ने उत्पीड़न करना शुरू कर दिया है। नियम और कानूनो को धता बता कर निजी लोगों के हांथों में कैंटीन की कमान पूरी तरह से सौंप कर कर्मचारियों की जेब पर डाका डालने का कार्य किया जा रहा है। इसका व्यापक विरोध शुरू है। दोपहर में कर्मचारी कैंटीन खाना खाने नहीं पहुंच रहा है। कैंटीन के व्यापरीकरण के विरोध में सुशील गुप्ता, बलराम यादव, ओमप्रकाश मौर्य, तेजपाल सिंह, रामबरन वर्मा, मणिराव आशीष श्रीवास्तव संतोष अमृतलाल मीणा आदि कर्मचारी मौजूद रहे।

*************************************

  बेख़ौफ़ खबरें भारत न्यूज़

                             ब्यूरो रायबरेली

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)