काशी विद्यापीठ का मकसद समाज के सबसे निचले पायदान तक पहुंचाना है: प्रोफेसर आनंद कुमार त्याग

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

वाराणसी:समाज के सबसे निचले पायदान तक पहुंचना महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ का मकसद है इसी को दृष्टिगत रखते हुए काशी विद्यापीठ ने शक्ति नगर में अपना एक कैंपस खोला है ताकि वह वहां के गरीब, आदिवासी बच्चों के लिए कम फीस में शिक्षा उपलब्ध करा सके। उक्त बातें कुलपति ने आज 45 में दीक्षांत समारोह की प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहीं।


कुलपति ने अपने संबोधन में कहा कि महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के 45 वे दीक्षांत समारोह में स्नातक में कुल 65089 उपाधि दी जाएगी। जिसमें 28064 छात्र 37024 छात्रा एवं 01 ट्रांसजेंडर है स्नातकोत्तर में कुल 12529 उपाधि दी जानी है जिसमें 4029 छात्र 8500 छात्रा है । शोध में कुल 73 उपाधि दी जानी है जिसमें 43 छात्र 30 छात्रा शामिल है तथा डी.लिट. की उपाधि प्रोफेसर सुशील कुमार गौतम (शारीरिक शिक्षा विभाग विद्यापीठ) को दी जानी है। समारोह में कुल 65 स्वर्ण पदक दिए जाने हैं 


जिसमें से 14 छात्र तथा 51 छात्र सम्मिलित हैं।उपयुक्त स्वर्ण पदकों में से ही विशेषीकृत स्वर्ण पदक जो विभिन्न विभूतियों एवं संस्थाओं के नाम से छात्र-छात्राओं को दिए जाने हैं।ऐसे 14 विशेषीकृत स्वर्ण पदक एवं 02 उत्कृष्ट खिलाड़ियों जिसमें 01 महिला एवं 01 पुरुष को दिए जाने हैं। ये विशेषीकृत उपाधियां राष्ट्रपति द्वारा दी जाएंगी जिनका विवरण निम्नवत है।


बी.ए.(संस्कृत)सर्वोच्च अंक में प्रोफेसर अमरनाथ पांडे स्मृति स्वर्ण पदक, शिखा को दिया जाएगा।एलएलबी में कृष्ण वासुदेव स्मृति स्वर्ण पदक, संजना उपाध्याय को दिया जाएगा।एम.ए हिंदी में डॉक्टर शंभू नाथ सिंह स्मृति स्वर्ण पदक, अभिषेक मौर्या को दिया जाएगा।एम.ए. हिंदी में डॉक्टर शंभू नाथ सिंह स्मृति स्वर्ण पदक, कुमारी नैना को दिया जाएगा।एम.ए संस्कृत में जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती स्वर्ण पदक, कुमारी ट्विंकल पाठक को दिया जाएगा।एम.ए इतिहास में रामजनम सिंह स्मृति स्वर्ण पदक, प्रीतम प्रसाद को दिया जाएगा।



एम.एफ.ए में डॉक्टर शरद बंसल स्मृति स्वर्ण पदक, धीरज कुमार नीरज को दिया जाएगा।एम.ए इकोनॉमिक्स में प्रोफेसर दूधनाथ चतुर्वेदी स्मृति स्वर्ण पदक, संसृता सिंह को दिया जाएगा।एम.सी.ए (2 वर्षीय प्रोग्राम) में सीताराम जिंदल फाउंडेशन द्वारा प्रायोजित स्वर्ण पदक, विनय तिवारी को दिया जाएगा,एम.बी.ए में सीताराम जिंदल फाउंडेशन द्वारा प्रायोजित स्वर्ण पदक, सुनंदा यति को दिया जाएगा।



एम.एस.डब्ल्यू में प्रोफेसर सी. पी. गोयल स्मृति स्वर्ण पदक,अंजलि चौरसिया को दिया जाएगा।स्नातकोत्तर कक्षा में सर्वोच्च अंक पाने के लिए डॉक्टर विभूति नारायण सिंह स्मृति स्वर्ण पदक, मनीषा मौर्या को दिया जाएगा।स्नातक कक्षा में सर्वोच्च अंक पाने के लिए डॉक्टर भगवान दास स्मृति स्वर्ण पदक, शगुन सिंह को दिया जाएगा।एम.ए पत्रकारिता एवं जनसंचार में अतुल माहेश्वरी स्मृति स्वर्ण पदक,आयुषी तिवारी को दिया जाएगा।


उत्कृष्ट खिलाड़ी पुरुष में अखिल भारतीय अंतर विश्वविद्यालय वेट लिफ्टिंग प्रतियोगिता , सिद्धांत सेठ को दिया जाएगा।उत्कृष्ट खिलाड़ी महिला में अखिल भारतीय अंतर विश्वविद्यालय पेनकॉक सिलाट प्रतियोगिता, अंजलि पटेल को दिया जाएगा। प्रेस कॉन्फ्रेंस में जनसंपर्क अधिकारी डॉक्टर नवरत्न सिंह कुलसचिव डॉक्टर सुनीता पांडे, छात्र कल्याण संकाय अध्यक्ष डॉक्टर केके सिंह, कुलानुशासक डॉ अमिता सिंह प्रोफेसर संजय, डॉक्टर नागेंद्र सिंह डॉक्टर रमेश कुमार सिंह डॉ सतीश कुशवाहा आदि लोग उपस्थित थे।

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)