जिलाधिकारी ने निर्वाचन कार्यो की समीक्षा कर अधिकारियों को आवश्यक दिए दिशावेनिर्देश

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

वाराणसी। जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी एस.राजलिंगम की अध्यक्षता में शनिवार को कमिश्नरी सभागार में अर्हता तिथि 01.01.2024 के आधार पर गतिशील निर्वाचक नामावलियों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्य के प्रगति की समीक्षा बैठक हुई। जिसमे समस्त निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों/सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों/वी0आर0सी0 आपरेटर प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।


         जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी वर्तमान में गतिशील विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण एवं आगामी लोक सभा सामान्य निर्वाचन 2024 की तैयारियों के संबंध में समस्त निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों/सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों एवं मतदाता पंजीकरण केन्द्रों पर तैनात वी०आर०सी० आपरेटरों के साथ समीक्षा बैठक के दौरान समस्त उप जिलाधिकारियों/तहसीलदारों को निर्देशित किया गया कि वे अपने क्षेत्रान्तर्गत आने वाले विधानसभाओं के सेक्टर, रूट चार्ट, कम्युनिकेशन प्लान, नक्शा आदि तैयार करा लिया जाय। साथ ही साथ डिस्ट्रिक्ट मैनेजमेन्ट प्लान (DEMP) की गाइड को अध्ययन करते हुये अपने से सम्बन्धित सूचनाएं यथा-मानचित्र रूट चार्ट, सेक्टर, कम्यूनिकेश प्लान, को डिस्ट्रिक्ट मैनेजमेन्ट प्लान (DEMP) में इंगित किया जाय।


आयोग द्वारा क्रिटिकल/वल्नरेबिल मैपिंग के संबंध में जो गाइड लाइन जारी की गयी है, उसका अध्ययन कर लें और गाइड लाइन के अनुसार क्रिटिकल/वल्नरेबिल मैपिंग के चिन्हीकरण की कार्यवाही एक सप्ताह में पूर्ण करायें। अपर जिलाधिकारी (प्रशासन)/उप जिला निर्वाचन अधिकारी को एक सप्ताह में जोनल/सेक्टर मैजिस्ट्रेट की नियुक्ति करने हेतु निर्देशित किया। गत लोक सभा निर्वाचन एवं विधान सभा सामान्य निर्वाचन में लो टर्न-आउट वाले बूथों को चिन्हित करते हेतु कम पड़े मतदान के वास्तविक कारणों का एक सप्ताह में जांच करेंगे, जिसमें 10 बूथ सम्बन्धित विधान सभा के ई०आर०ओ०, 20 बूथ सम्बन्धित बूथ के एईआरओ/तहसीलदार द्वारा किया जायेगा।

जिलाधिकारी ने बैठक के दौरान समस्त ई०आर०ओ०/एईआरओ को निर्देशित किया कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा विकसित किये गये VHA (Voter helpline) को समस्त मतदान पर बीएलओ के माध्यम से मतदाताओं के मोबाइल पर अपलोड कराया जाय।




जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि किसी भी बूथ में मृतक/डुप्लीकेट मतदाता नहीं होने चाहिए। यदि किसी बूथ में इस प्रकार की शिकायत मिलती है तो सम्बन्धियत ई०आर०ओ०/ए०ई०आर०ओ०/बी०एल०ओ० के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी। निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी अपने विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से सम्बन्धित समस्त सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों के साथ प्रतिदिन वी०सी०/मीटिंग करेंगे। उन्होने ई०आर०ओ० नेट के माध्यम से प्राप्त डी०एस०ई०/पी०एस०ई० में अब तक की गयी कार्यवाही की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान 9336 डी०एस०ई० मतदाताओं के सापेक्ष अभी भी 4208 मतदाता BLO Assigned में है, जिसमें सर्वाधिक 1764 मतदाता कैट विधान सभा एवं 1300 मतदाता रोहनियां विधान सभा में तथा जिसे तत्काल आगे बढ़ाया। इसी प्रकार 54664 पी०एस०ई० मतदाताओं के सापेक्ष अभी भी 50743 मतदाता BLO Assigned में है।



इस संबंध में सभी सम्बन्धितों को निर्देशित किया कि डी०एस०ई/पी०एस०ई० के कार्य में अभी बुहत अधिक प्रकरणों में कार्य किया जाना है, जिसे तत्काल पूरा कराया जाय। यदि प्रश्नगत कार्य 03 दिवस के अन्दर पूर्ण नहीं होता है, तो सम्बन्धित का उत्तर दायित्व निर्धारित किया जायेगा। निरन्तर पुनरीक्षण 2023 के दौरान बी०एल०ओ० द्वारा 21.07.2023 से 21.08.2023 के मध्य किये गये भौतिक सत्यापन का कार्य बी०एल०ओ० एप के माध्यम से शत-प्रतिशत पूर्ण कराया जाय। अभी आन लाइन के माध्यम से जनपद में 87.18 प्रतिशत मतदाताओं का सत्यापन किया गया है, जिसमें सर्वाधिक अजगरा विधान सभा द्वारा 97.33 प्रतिशत, शिवपुर द्वारा 95.67 प्रतिशत, सेवापुरी द्वारा 93.23 प्रतिशत तथा रोहनियां द्वारा 92.48 प्रतिशत किया गया है। 



इस संबंध में उन्होने निर्देशित किया कि अवशेष सत्यापन का कार्य 03 दिवस के अन्दर पूर्ण कराया जाये और इसका ए0ई0आर0ओ0वाइज सूचना तैयार कर मानिटरिंग किया जाय। मतदाता सूची में अभी भी 301 ऐसे मतदाता है, जो 100 वर्ष के ऊपर के हैं। ऐसे मतदाताओं का सत्यापन बी0एल0ओ0/सुपरवाइजर/ए०ई०आर०ओ० के माध्यम से करा लिया जाय। अर्हता तिथि 01.01.2024 के आलेख्य प्रकाशन से पूर्व (दिनांक 05.06.2023 से 26.10.2023 तक) प्राप्त दावे/आपत्तियां ई०आर०ओ० नेट पर अनप्रोसेस की श्रेणी में यथा Forms Unprocessed by AERO में 02 फार्म तथा Form Accepted for E-Roll Updation में 10 फार्म पेन्डिंग पड़ हुये हैं।



 उक्त पेन्डिंग पड़े फार्मों को Roll Back करते हुये उसका तत्काल निस्तारण कराने हेतु सम्बन्धित निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों को निर्देशित किया। समीक्षा बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिये गये कि पुनरीक्षण अवधि 27.10.2023 से 22.12.2023 के मध्य प्राप्त फार्मों के ई०आर०ओ० नेट पर कोई भी फार्म-6, 7 एवं 8 लम्बित नहीं रहना चाहिए। यदि उक्त अवधि का कोई भी फार्म लम्बित पाया जायेगो तो सम्बन्धित ई०आर०ओ०/ एलए0ई0आर0ओ0 के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायगी। बैठक में उपस्थित समस्त ई०आर०ओ० को यह भी निर्देश दिये गये कि मतदाता सूची में दिव्यांग मतदाताओं की मार्किंग अवश्य रूप से करा ली जाय। ऐसे थर्ड जेण्डर/सेक्स वर्कर्स मतदाता को चिन्हित किया जाय जिनका नाम अभी तक मतदाता सूची में शामिल है उन्हें चिन्हित करते हुये मतदाता सूची में नाम सम्मिलित कराये जाने के निर्देश दिए गये।



 ईट-भट्ठा पर कार्य करने वाले मजूदरों तथा अनुसूचित जाति/आनूसचित जाति के कमजोर वर्गों को चिन्हीकरण कराया जाय तथा उनका नाम मतदाता सूची में सम्मिलित कराया जाय। जिलाधिकारी द्वारा यह भी निर्देश दिये गये कि मतदेय स्थलों पर ए०एम०एफ० से सम्बन्धित समस्त प्रकार की सुविधाओं की जांच समस्त इ०आर०ओ०/ए०ई०आर०ओ० स्वयं कर लें। जिन मतदेय स्थलों पर ए०एम०एफ० की सुविधा जैसे विद्युत, पीने का पानी, शौचालय आदि उपलब्ध नहीं है, ऐसे संबंधित विभागों को कमी को पूरा किये जाने हेतु पत्र निर्गत किया जाय। उन्होने समस्त ई०आर०ओ० को निर्देशों का पालन कड़ाई से सुनिश्चित किए जाने हेतु विशेष रूप से निर्देशित किया।

Tags:

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)