ए०टी०एम० कार्ड बदलकर पैसा निकालने वाले अन्तर्राज्यीय गिरोह के 4 ठग को पुलिस ने दबोचा, डीसीपी वरुणा जोन ने किया खुलासा

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

वाराणसी। पुलिस आयुक्त द्वारा अपराधों की रोकथाम एवं चोरी/लूट की घटनाओ के सफल अनावरण तथा वांछित/फरार अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु चलाये जा रहे


अभियान के क्रम में पुलिस उपायुक्त वरुणा जोन के निर्देशन मे अपर पुलिस उपायुक्त वरुणा जोन के पर्यवेक्षण मे एवं सहायक पुलिस आयुक्त कैन्ट के नेतृत्व में थाना लालपुर पाण्डेयपुर पुलिस टीम द्वारा मुखबिरी सूचना के आधार पर मु0अ0सं0-10/2024 धारा 379/420/411/413/414 भादवि0 थाना लालपुर पाण्डेयपुर से संबंधित वांछित अभियुक्त 1- मोनू कुमार पुत्र अवधेश सिंह निवासी ग्राम रोशना थाना फतेहपुर जिला गया प्रान्त बिहार, 2-दयानन्द कुमार उर्फ छोटू पुत्र सुनील कुमार निवासी ग्राम अतवां थाना कादीगंज जिला नवादा प्रान्त बिहार 3-रविकान्त कुमार पुत्र स्व० जितेन्द्र सिंह ग्राम कुंज थाना रोह जिला नवादा प्रान्त बिहार व 4-चन्दन कुमार पुत्र राजेश सिंह निवासी ग्राम सादीपुर नारदीगंज जिला नवादा प्रान्त बिहार को आज दिनांक 15.01.2024 को समय करीब 6.10 बजे आजमगढ अण्डरपास हरहुआ जाने वाले रास्ते से गिरफ्तार किया गया। 





अभियुक्त के कब्जे से कुल 132 अदद अलग अलग बैंक एटीएम डेबिट कार्ड, कुल 18 अदद एटीएम मशीन से पैसा निकासी के लिए लगाने वाली पत्ती तथा पत्ती लगाने व बनाने मे प्रयुक्त अलग अलग औजार व अलग अलग घटना से प्राप्त कुल रूपये मे से खर्च के बाद बचे शेष 21585 रूपये, घटना मे प्रयुक्त 06 अदद मोबाईल फोन व 01 अदद चारपहिया वाहन बलेनो कार बरामद हुआ।




 उक्त गिरफ्तारी व बरामदगी के सम्बन्ध में थाना लालपुर पाण्डेयपुर पुलिस द्वारा अग्रिम विधिक कार्यवाही की जा रही है।दिनांक 14.01.2024 को वादिनी मुकदमा जया कन्नौजिया पुत्री राजकुमार कन्नौजिया निवासिनी-S 8/238 पाण्डेयपुर थाना लालपुर पाण्डेयपुर कमि० वाराणसी ने HDFC ATM पाण्डेयपुर चौराहा वाराणसी से अज्ञात अभि० द्वारा एटीएम में पत्ती लगाकर धोखाधड़ी करके उनका 8000/- रूपया चोरी कर लेने के सम्बन्ध में लिखित प्रार्थना पत्र दिया जिसके आधार पर थाना लालपुर पाण्डेयपुर मे मु0अ0स0- 010/2024 धारा 379,420 भा0द0वि0 पंजीकृत किया गया,जिसकी विवेचनाउ0नि0 अमरजीत कुमार द्वारा संपादित की जा रही है,




पूछताछ करने पर अभियुक्त ने बताया कि हम सभी लोग छत्तीसगढ, झारखण्ड,मध्यप्रदेश,बिहार, पश्चिम बंगाल,उत्तर प्रदेश के राज्यो मे विभिन्न विभिन्न शहरो मे इसी चारपहिया बलेनो गाडी से विभिन्न विभिन्न बैंको के एटीएम मशीनो पर हम सभी लोग एक साथ मिलकर दो व्यक्ति एटीएम के बाहर खडे रहते थे दो व्यक्ति एटीएम के अन्दर समयानुसार अगर कोई व्यक्ति एटीएम के बारे कम जानकारी है उसको हम लोग सहयोग का बहाना बनाकर एटीएम कार्ड बदल लेते थे और जब वह व्यक्ति पिन टाईप करता है, उसे हम दोनो व्यक्ति देखकर याद कर लेते है तथा उक्त व्यक्ति का जिस बैंक का एटीएम कार्ड होता था हम सभी लोग उक्त बैंक का एटीएम कार्ड बदल कर उस व्यक्ति को दे देते थे ताकि उस व्यक्ति को लगे कि यह मेरा ही एटीएम कार्ड है। जिसके बाद हम सभी लोग दूसरे एटीएम मे जाकर पैसा निकाल कर आपस मे बटवारा कर लेते है। यदि हम लोगो को कोई इस प्रकार का व्यक्ति नही मिलता तो हम लोग एटीएम मशीन में पैसा निकासी वाले स्थान पर एक पत्ती लगाकर छोड देते है




 एटीएम के अगल बगल खडे होकर निगरानी करते है जब कोई ग्राहक एटीएम में पैसा निकासी करने पहुंचता है और एटीएम से पैसा निकासी का सारा प्रोसेस पूरा कर लेता है लेकिन हम लोगो द्वारा लगाये गये पत्ती के कारण उसका पैसा बाहर नही आता है जब ग्राहक के एटीएम से बाहर कुछ दूर चला जाता है तो हम लोग पैसा निकालने के बहाने एटीएम के अन्दर घुसकर अपने जीन्स और पैण्ट में पहले से मौजूद पिलास पेचकस आदि के सहारे अपने द्वारा लगायी गयी पत्ती को निकाल कर पैसे की चोरी कर लेते है और वहां से हट बढ जाते है और कडाई से पूछताछ करने पर सभी व्यक्ति बता रहे है कि जब हम सभी लोग एटीएम कार्ड व पत्ती लगाकर धोखाधडी नही कर पाते है तो हम सभी लोग किसी ग्राहक के पैसे निकालने से पहले हम लोगो मे से कोई न कोई उसके आगे खडा रहता है




 बातो में उलझाकर एटीएम मशीन मे कार्ड लगाने वाले स्थान पर फेवीक्विक लगा देते है जब कोई ग्राहक एटीएम मशीन मे अपना कार्ड लगाता है और सारी प्रक्रिया पूरी करता है तो हम लोगो के पीछे खडे साथी द्वारा पिन देख लिया जाता है उसके बाद आगे वाले व्यक्ति को परेशान करने की नियत से कि हमे भी पैसा निकालना है जल्दी करो जल्दी करो एसी ही बातो में उलझाकर जल्दी एटीएम कार्ड निकालने की बात बोला जाता है।जिससे वह ग्राहक एटीएम कार्ड निकालने का प्रयास करता है 




किन्तु फेवीक्वीक लगा होने के कारण एटीएम कार्ड नही निकलता है तो हम लोग गार्ड को बुलाने के लिए उस व्यक्ति को एटीएम से बाहर भेज देते है तभी हम लोगो का एक साथी उस एटीएम मशीन में फसे एटीएम कार्ड को निकालने के लिए प्रीमियम ह्वाईट ग्लू लगा देते है जिससे फीवीक्विक का असर खतम हो जाता है और एटीएम आसानी से बाहर आ जाता है। और हम लोग उस एटीएम कार्ड को लेकर तुरन्त हट बढकर किसी दूसरे एटीएम मशीन से उक्त एटीएम कार्ड का प्रयोग कर पैसा निकाल लेते है।हम सभी लोग एक साथ मिलकर विगत 03 वर्षों से अलग अलग राज्यो मे उक्त एटीएम कार्डो की धोखाधडी करते हुए अपना एशो आराम की जिन्दगी जीते हुए जीवन यापन कर रहे थे इसी क्रम मे हम सभी लोग मध्य दिसम्बर महीना 2023 को इसी गाडी नंबर JH 01 EP 8772 बलेनो मारूती सुजुकी के साथ बनारस शहर के भिन्न भिन्न स्थानो से एटीएम मशीन मे धोखा धड़ी कर रहे थे जिस क्रम मे वाराणसी कचहरी स्थित एसबीआई एटीएम से पिन बदलने के बहाने एक बुजुर्ग से एटीएम कार्ड बदलने के बाद नदेसर एसबीआई एटीएम से 04 बार मे 40000 रूपये निकाल लिए। 



आज से लगभग एक सप्ताह पहले हम सभी लोग हरहुआ यूनियन बैंक के एटीएम से फेवीक्वीक लगाकर एटीएम कार्ड फसा दिये थे उक्त एटीएम कार्ड धारक के एटीएम केविन से गार्ड को बुलाने के बहाने भेजकर हम लोगो द्वारा एटीएम निकाल कर वहां हट बढ गये तथा बाद मे अलग अलग माध्यम से पैसे निकाल कर अपने एशो अराम की जिन्दगी जी रहे थे। हम सभी लोग हरहुआ मे घटना करने के अगले ही दिन सुबह सुबह पाण्डेयपुर चौराहे पर पहुंच गये और वहां स्थित एचडीएफसी एटीएम मशीन मे पैसे निकासी के स्थान पर पत्ती लगाकर हट बढ़ गये हम सभी लोग किसी ग्राहक का इन्तजार कर रहे थे





 तभी एक लडकी एटीएम के अन्दर पैसा निकालने के लिए प्रवेश की उनके पीछे हम लोगो मे से दयानन्द कुमार उर्फ छोटू तथा मोनू कुमार ग्राहक बनकर एटीएम में प्रवेश किये तथा रविकान्त कुमार, चन्दन कुमार एटीएम गेट पर ग्राहक बनकर खड़े हो गये ताकि कोई अन्य व्यक्ति एटीएम केविन में प्रवेश न कर सके इसी बीच उस लडकी द्वारा पैसा निकालने की पूरी प्रक्रिया अपनाते हुए प्रयास किया गया जब पैसा नही निकला तो दयानन्द जो लडकी के पीछे खडा था बोला कि जल्दी करिये मुझे पैसा निकालना है आपका एटीएम काम नही कर रहा है इसलिए पैसा नही निकल रहा है जिसके बाद लडकी एटीएम केविन से बाहर चली गयी हम लोगो द्वारा एटीएम मशीन में लगाई गयी पत्ती को अपने पास रखे औजार से पत्ती निकाल लिया गया तथा कुल 8000 रूपये जो लडकी द्वारा निकालने का प्रोसेस किया गया था उस पैसे को हम लोगो ने निकाल कर चोरी कर के वहां से भाग गये थे।





गिरफ्तार करने वाली पलिस टीम थानाध्यक्ष मनोज कुमार थाना लालपुर पांडेयपुर,उ0नि0 अंकुर कुशवाहा,उ0नि0 शशि प्रताप सिंह,उ0नि0 अमरजीत कुमार,हे0का0 सुरेन्द्र कुमार मौर्या,का0 सतीश कुमार,का0 लवरेज खा, का0 मनीष कुमार तिवारी,का0 सूरज कुमार तिवारी थाना लालपुर पाण्डेयपुर कमिश्नरेट वाराणसी।

Tags:

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)