श्रीराम जन्मभूमि के प्राण प्रतिष्ठा वं गणतंत्र दिवस के परिपेक्ष्य में शांति कानून व्यवस्था के दृष्टिगत पुलिस उपायुक्त काशी जोन द्वारा किया गया पैदल गश्त व सघन चेकिंग

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

वाराणसी।आर0एस0 गौतम पुलिस उपायुक्त काशी-जोन के नेतृत्व में 22.01.2024 को प्रस्तावित श्रीराम जन्मभूमि के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम,दि.24.01.2024 को अपने समृद्ध प्रदेश उत्तर प्रदेश का स्थापना दिवस तथा राष्ट्रीय पर्व गणतंत्र दिवस को पूरे हर्षोल्लास से मनाये


जाने के दृष्टिगत काशी जोन के सम्पूर्ण क्षेत्र में अभियान चलाकर सभी मिश्रित आबादी वाले क्षेत्रों में संवेदनशील/अतिसंवेदनशील क्षेत्रों में घाटों पर भीड़-भाड़ वाले स्थानों मे तिराहों/चौराहों पर, धार्मिक स्थलों पर सर्राफा प्रतिष्ठानों/शापिंग मॉल के आस-पास आदि जगहों पर संदिग्ध व्यक्ति/वाहन/वस्तु आदि की सघन चेकिंग तथा पैदल गश्त किया गया। 


चेकिंग/गश्त के दौरान जनता के व्यक्ति से संवाद स्थापित करते हुए "पुलिस मित्र" का संदेश दिया गया तथा आपसी सद्भाव/शांति एवं सौहार्द बनाये रखने हेतु अपील की गयी तथा सोशल मीडिया के दुरुपयोग एवं अफवाहों के सम्बन्ध में भी लोगो को सचेत जागरुक किया गया है। साथ ही पुलिस उपायुक्त महोदय द्वारा अपील/आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये-पुलिस उपायुक्त महोदय द्वारा गस्त के दौरान जनता के साथ संवाद एवं समन्वय स्थापित करते हुए जनता में मित्र पुलिस का संदेश भी दिया गया।


 जिससे आम जनता में पुलिस के प्रति विश्वास को बढ़ाया जा सके तथा आम लोग अपनी जान-माल की सुरक्षा हेतु पुलिस से सहज रूप से बिना किसी भय अथवा डर के अपनी समस्याओं एवं शिकायतों को दर्ज करा सकें तथा अपराधियों के बीच भय उत्पन्न हो एवं शांतिपूर्ण वातावरण स्थापित किया जा सके। जनमानस से अपील की गयी कि अपने आसपास मुहल्ले के लोगों को समझाये कि मकर संक्रान्ति के पर्व पर की जाने वाली पतंगबाजी में प्रतिबंधित चायनीज मांझा का प्रयोग न करें। पुलिस उपायुक्त काशी जोन द्वारा सर्व सम्बन्धित से अपील की गयी कि आप लोग अफवाहों से बचें, यदि कोई व्यक्ति चाहे वह किसी भी धर्म संप्रदाय का हो अफवाह फैलाते हो तो संबंधित प्रभारी निरीक्षक व थानाध्यक्ष एवं पुलिस के उच्च अधिकारियों से संपर्क कर अवगत कराएं। यदि कोई व्यक्ति अफवाहों पर विचार कर किसी प्रकार का कोई अवांछनीय कृत्य करेगा तो उसके विरुद्ध विधिक कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। 


पुलिस उपायुक्त काशी जोन द्वारा सर्व सम्बन्धित को अवगत कराया गया कि सोशल मीडिया/अन्य माध्यमों से नफरत व द्वेष फैलाने वाले अफवाहों से बचें तथा स्वयं भी सोशल मीडिया के माध्यम से इस प्रकार को कोई मैसेज न भेजे जिससे कानून व्यवस्था के प्रतिकूल स्थिति उत्पन्न होने पाये। सोशल मीडिया पर निरंतर निगरानी रखी जा रही है।

Tags:

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)