प्रत्येक मानदंड/क्राईटेरिया महामहिम कुलाधिपति जी के दिये गये निर्देशों का अक्षरशः पालन करे : कुलपति प्रो बिहारी लाल शर्मा..

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

 वाराणसी।दुनिया  में भारतीय ज्ञान परम्परा का उत्कृष्ट केंद्र और प्राच्यविद्या के संरक्षण एवं संवर्धन के लिए स्थापित इस संस्था में नैक मूल्यांकन में ए प्लस प्लस ग्रेडिंग प्राप्त होने के लक्ष्य के अनुरूप तैयार रहने की जरूरत है।


उक्त विचार आज उत्तर प्रदेश की महामहिम राज्यपाल एवं कुलाधिपति श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने राजभवन में सम्पूर्णानन्द संस्कृत  विश्वविद्यालय, वाराणसी के नैक मूल्यांकन की तैयारियों की समीक्षा करते हुए व्यक्त किया।

नैक मूल्यांकन की तैयारियों के समीक्षा बैठक के पश्चात कुलपति प्रो बिहारी लाल शर्मा ने बताया कि महामहिम कुलाधिपति एवं  राज्यपाल ने नैक मूल्यांकन हेतु निर्मित सातों मानदंड/क्राईटेरिया का सूक्ष्मता से निरीक्षण और अवलोकन कर प्रत्येक मानदंड/क्राईटेरिया

 को प्रत्येक विन्दु को स्पष्ट कर उसे और व्यवस्थित कर अपनी तैयारियों  को और सशक्त करने की आवश्यकता है।

*पूर्व में प्राप्त "ए" ग्रेड से ए++ग्रेडिंग तक ले जाने की जरूरत*---

कुलपति प्रो शर्मा ने बताया महामहिम कुलाधिपति ने प्रस्तुतीकरण के प्रत्येक मानदंड/क्राईटेरिया में  आपके पास सब कुछ है केवल सिस्टम से सजाकर व्यवस्थित करके अपनी प्रस्तुतीकरण को और उत्कृष्ट बनायें।इस संस्था का पूर्व में नैक ग्रेडिंग "ए" रहा है, वर्तमान उसे और तैयार होकर अपग्रेड कर ए++ (प्लस प्लस)ग्रेडिंग तक ले जाने की जरूरत है।

*कुलपति प्रो बिहारी लाल ने महामहिम कुलाधिपति का जताया आभार*---

कुलपति प्रो बिहारी लाल शर्मा ने कुलाधिपति एवं  राज्यपाल एवं उनकी टीम का आभार व्यक्त करते हुए विश्वविद्यालय के सातों कैटेगरी के सदस्यों को आज से ही महामहिम द्वारा दिये गये सुझावों का अक्षरशः नियमबद्ध होकर निश्चित समय सारणी के अंतर्गत अपनी तैयारियों को व्यवस्थित करने की जरूरत है।सभी लोग संकल्पित विचार और मनोयोग से टीम भावना के साथ कार्य करें जिससे प्राच्यविद्या की भावना का आदर और सम्मान भी होगा।

*उपस्थित ज़न*--

इस अवसर पर अपर अपर मुख्य सचिव राज्यपाल डॉ सुधीर महादेव बोबड़े,ओएसडी डॉ पंकज एल जानी, कुलसचिव राकेश कुमार, प्रो रामपूजन पाण्डेय, प्रो हरिशंकर पाण्डेय, प्रो रमेश, प्रसाद, शैलेश कुमार मिश्र, प्रो हीरक कांत चक्रवर्ती,प्रो विधु द्विवेदी, प्रो अमित कुमार शुक्ल, प्रो दिनेश कुमार गर्ग, डॉ विशाखा शुक्ला,डॉ मधुसूदन मिश्र,डॉ कुप्पा स्वामी,डॉ विजेंद्र कुमार आर्य,नितिन कुमार आर्य आदि उपस्थित थे।


Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)