कानपुर में कुछ पुलिस कर्मियों पर की गई कार्रवाई

Bekauf Khabar Bharat
By -
0

कानपुर : शहर में हत्या, लूट, धोखाधड़ी, चोरी, किशोरी को बहला-फुसलाकर भगा ले जाने जैसे मामलों में लापरवाही बरतने वाले दो इंस्पेक्टरों, 17 दरोगाओं समेत 141 पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की गई है। जांच अधिकारियों की रिपोर्ट के बाद उच्चाधिकारियों ने बैड एंट्री और अर्थदंड से दंडित किया है। अब इन्हें तीन से पांच साल तक न तो प्रमोशन मिलेगा और न ही इंक्रीमेंट , दरअसल दोनों इंस्पेक्टरों और 17 दरोगाओं ने विवेचना में लापरवाही बरती है तो अन्य पुलिसकर्मी काम के प्रति लापरवाह पाए गए हैं। पुलिस रिकार्ड के अनुसार पिछले चार साल में दो इंस्पेक्टर, 17 दरोगा, 37 हेड कांस्टेबल, 58 कांस्टेबल व 12 चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के खिलाफ लापरवाही के आरोप लगे थे।


पुलिस अधिकारियों ने सभी के खिलाफ विभागीय जांच बैठा दी थी। जांच की जिम्मेदारी एडिशनल डीसीपी से लेकर एसीपी को सौंपी गई थी। जांच अधिकारियों ने अपनी-अपनी रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को सौंपी। जांच अधिकारियों के रिपोर्ट के आधार पर पुलिस कमिश्नर ने लापरवाह पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की गयी जिसमे सुभाष चंद्र, अशोक कुमार, अभिषेक सोनकर, आनंद शर्मा, पंकज कुमार राठी, विजय प्रकाश सिंह, इंद्रपाल सिंह, संदीप कुमार, विमल बैगा, अलख निरंजन, जगदीश वर्मा, यतेंद्र पाल सिंह, पंकज कुमार जायसवाल, सर्वेंद्र कुमार, सुधाकर पांडेय, चंद्र प्रकाश तिवारी, रवि कुमार दीक्षित। इसके अलावा मुख्यालय स्तर पर हुए जांच में दो हेड कांस्टेबल, चार कांस्टेबल व एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी को दंडित किया गया है।वहीं इस मामले में एडिशनल सीपी क्राइम एवं मुख्यालय ने बताया कि जांच रिपोर्ट के आधार पर लापरवाह पुलिस कर्मियों को सजा दी गई। काम के प्रति लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों पर किसी भी कीमत में रियायत नहीं की जाएगी।

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)